ustad

मशहूर शहनाई वादक और भारत रत्न उस्ताद बिस्मिल्लाह खां की उनके वाराणसी स्थित आवास से पांच शहनाई चोरी हो गयी है. इनमें उस्ताद की वह शहनाई भी शामिल है जिससे वह मोहर्रम की पांचवी और सातवीं तारीख पर आंसुओं का नजराना पेश करते थे.

चोर चांदी की इन शहनाइयों के साथ-साथ उस्ताद बिस्मिल्लाह खां को पुरुस्कार के रुप में मिली चांदी की कई तश्तरियां और लाखों रुपए के जेवरात भी चुरा ले गए. फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है. उनके बेटे काजिम हुसैन ने जानकारी देते हुए कहा कि चोर उस्ताद की खास शहनाई भी उठा ले गये. उसे वह सिर्फ मोहर्रम की पांचवीं और सातवीं तारीख को विशेष रूप से निकालते थे। इसी से वह आंसुओं का नजराना पेश करते थे.

इसके अलावा पूर्व प्रधानमंत्री स्व. पीवी नरसिंहा राव, पूर्व केन्द्रीय मंत्री कपिल सिब्बल, लालूप्रसाद यादव और उस्ताद के शिष्य भागर्व वर्मा ने एक-एक शहनाई तोहफे में दी थी.

दरअसल काजिम हुसैन के पास ही ‘उस्ताद’ की धरोहर के रूप में पांचों शहनाई व अन्य सामान थे. हाल ही में उन्होंने दालमंडी स्थित चाहमामा मोहल्ले में नया मकान लिया है. इसी मकान में उस्ताद की धरोहर एक दीवान में रखी हुई थी.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें