पश्चिम मंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने राज्य में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से प्रेरित स्कूलों पर कार्रवाई शुरू कर दी है.

शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने मंगलवार को विधानसभा में जानकारी देते हुए कहा कि सरकार को राज्य  में आरएसएस से प्रेरित 493 स्कूलों के बारे में जानकारी मिली है. इनमें से 125 बिना किसी सरकारी अनुमति के चल रहे है, हमने पहले ही इन स्कूलों को चलाने वालों से जानकारी मांगी लेकिन वे नहीं दे पाए. ऐसे में इन सभी स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी गई है.

विधानसभा के बाहर, उन्होंने पत्रकारों से कहा, “आरएसएस हो या न हो, स्कूलों को चलाने वाले कुछ मानदंडों का पालन करना होता है, जिन्हें सिखाया नहीं जा जाता. हम प्रत्येक मामले में देख रहे हैं जो हमारे नोटिस में लाया जा रहा है.”

इस मामले में दक्षिण बंगाल के आरएसएस  सचिव, जिस्नु बसु ने कहा कि इन स्कूलों को बंद करने की कोशिश करने से पहले, मंत्री को अपने निर्वाचन क्षेत्र में प्राथमिक विद्यालयों का दौरा करना चाहिए और वहां के हालातों की जानकारी लेनी चाहिए.

उन्होंने कहा, “वह उन स्कूलों को जो बंद करने की कोशिश कर रहे हैं, जो छात्रों को अच्छी शिक्षा और स्वच्छ वातावरण प्रदान कर रहे हैं सरकार को बंगाल में प्राथमिक शिक्षा के मानकों में सुधार लाने पर ध्यान देने की जरूरत है.”

चटर्जी ने यह भी कहा कि इनमें से अधिकांश विद्यालय उत्तर बंगाल जिले में स्थित हैं जैसे कूच बिहार और अलीपुरद्वार. उन्होंने कहा, “इन स्कूलों ने मुख्य रूप से पिछले वाम मोर्चा शासन के दौरान संबद्धता प्राप्त की थी.”

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें