Tuesday, June 22, 2021

 

 

 

रिश्वतखोरी के मामले में बारां के जिला कलेक्टर गिरफ्तार, ACB ने की कार्रवाई

- Advertisement -
- Advertisement -

राजस्थान में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने बुधवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए बारां जिले के जिला कलेक्टर इंदर सिंह राव को रिश्वतखोरी के मामले में गिरफ्तार किया है। इसकी पुष्टि एसीबी के महानिदेशक बीएल सोनी ने की।

बारां कलेक्टर इंद्र सिंह राव के PA महावीर नागर की 1.40 लाख की रिश्वत लेते गिरफ्तारी के बाद ये मामला खुला था। एसीबी एडीजी दिनेश एम.एन. ने मामले की जांच शुरू की और गोविंद सिंह द्वारा दायर की गई एक शिकायत के आधार पर जाल बिछाया था। यह व्यक्ति अपने पेट्रोल पंप की लीज का नवीनीकरन कराना चाहता था।

मामले में 9 दिसंबर को कोटा की एक एसीबी टीम ने इंद्र सिंह राव के पीए महावीर प्रसाद नागर को 1.40 लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया था। पूछताछ के दौरान, नागर ने खुलासा किया कि उसने यह पैसा जिला कलेक्टर की ओर से पेट्रोल पंप के लिए जारी किए गए अनापत्ति प्रमाण पत्र के बदले में लिए थे। तब एसीबी ने राव के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था। उसी समय राज्य सरकार द्वारा राव को तुरंत एपीओ (अवेटिंग पोस्टिंग ऑर्डर्स) घोषित किया गया।

नागर से पूछताछ करने के बाद एसीबी ने उसी दिन राव से भी 10 घंटे तक पूछताछ करके उनके खिलाफ मामला दर्ज किया। उसका मोबाइल फोन भी जब्त कर लिया गया। राव को बुधवार को पूछताछ के लिए जयपुर के एसीबी मुख्यालय में बुलाया गया था और वहीं से आईएएस अधिकारी को गिरफ्तार किया गया।

इंद्र सिंह राव मूलत: राजस्थान प्रशासनिक सेवा 1989 बैच के अफसर हैं। 31 साल के कार्यकाल में राव अब तक छह बार अलग-अलग कारणों से एपीओ किए जा चुके हैं। गंभीर आरोप के चलते एक बार उन्हें सस्पेंड भी किया जा चुका है। चार साल पहले ही उन्हें भारतीय प्रशासनिक सेवा में प्रमोट किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles