mathura bangladeshi 620x400

इस्कॉन मंदिर के पास साधु वेश में रह रहे बांग्लादेशी को पुलिस ने गुरुवार को गिरफ्तार किया। पकड़े गए युवक के पास से मोबाइल फोन, एटीएम कार्ड, लैपटॉप, आधार कार्ड समेत कई दस्तावेज मिले हैं। पुलिस और खुफिया विभाग बांग्लादेशी से पूछताछ कर रहे हैैं।

मथुरा पुलिस ने एलआईयू की टिप पर युवक को गिरफ्तार किया। पुलिस ने मुताबिक, गिरफ्तार 35 वर्षीय युवक ने अपना नाम फाल्गुन विकास वैद बताया है। वह भारत में साल 2004 में आया था जबकि वह वृंदावन में साल 2010 से रह रहा था। इससे पहले वह मायापुर और उज्जैन में भी रहा है। आरोपी युवक ने पुलिस को बताया कि वह भारतीय सीमा पर बिचौलिए को 500 रुपये की रिश्वत चुकाकर भारत में घुस आया था।

गिरफ्तार आरोपी युवक बांग्लादेश के चितगांव का रहने वाला है और भारत में पवित्र दास के फर्जी नाम से रह रहा है। उसके पास से पश्चिम बंगाल का बना हुआ फर्जी जन्म प्रमाणपत्र भी पाया गया है। पुलिस ने गिरफ्तार किए गए ​बांग्लादेशी युवक फाल्गुन विकास वैद को आईपीसी की धारा 420, 467, 468, 471 और विदेशी नागरिक कानून, 1946 की धारा 14 के तहत आरोपी बनाकर जेल भेज दिया है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बांग्लादेशी के पास से पुलिस को उज्जैन नगर पालिका का राशन कार्ड मिला है। 29 जनवरी 2022 तक वैध पासपोर्ट भी उसके पास से मिला है। जन्म प्रमाण पत्र पश्चिम बंगाल का, जिसमें युवक पवित्रदास पुत्र प्रफुल्ल दास उल्लेख है एवं पता कापर्स कॉलोनी थाना कापर्स कैम्प राना घाट, नादिया अंकित है।

आधार कार्ड, पेन कार्ड, जो पवित्र दास पुत्र प्रफुल्लदास निवासी मकान नं. 33-37 इस्कान मंदिर भरतपुरी एमएल नगर उज्जैन मप्र के पते पर हैं।

Loading...