Thursday, October 28, 2021

 

 

 

कर्नाटक में लग सकता है बीफ पर बैन, मंत्री ने कहा – ‘गाय पारिवारिक सदस्य की तरह’

- Advertisement -
- Advertisement -

कर्नाटक की भाजपा सरकार राज्य में बीफ बैन कर सकती हैं। दरअसल, राज्य की बीजेपी सरकार  कर्नाटक प्रिवेंशन ऑफ स्लॉटर एंड प्रिजरवेशन ऑफ कैटल बिल वापस लाने की तैयारी कर रही है। इस बिल को बीजेपी साल 2010 में लाई थी।

कैबिनेट मंत्री सीटी रवि ने क्विंट को बताया कि एक टीम दूसरे राज्यों में लाए गए इसी तरह के कानून को देख रही है, और उनकी जांच के बाद, 2010 के इस बिल को वापस लाया जा सकता है। इस ड्राफ्ट बिल के क्लॉज 5 में, बीफ की बिक्री, इस्तेमाल और रखने पर रोक का प्रस्ताव है। वहीं बीफ को बेचने और रखने पर एक साल की सजा और 25,000 रुपये का जुर्माना भी है।

इसी बीच अब चिकित्सा शिक्षा मंत्री के. सुधाकर ने रविवार को कहा कि गाय परिवार के सदस्य की तरह है और उन्हें मारना एक ‘अपराध’ है। उन्होंने कहा कि गाय का गोबर कीटाणुनाशक के तौर पर काम करता है। उन्होंने कहा कि उनके परिवार के पास पूर्व में कई गायें थीं।

हत्या को ‘पाप’ करार देते हुए मंत्री ने कहा कि वह मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा से अनुरोध करेंगे कि राज्य में पशु को मारने पर प्रतिबंध लगाएं। उनके कार्यालय की तरफ से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया कि चिक्कबल्लापुरा में एक गौशाला के उद्घाटन के अवसर पर सुधाकर ने कहा, ‘गाय परिवार के एक सदस्य की तरह है और गोवध एक अपराध है।’

उन्होंने कहा कि गोवध के खिलाफ लोगों को जागरुक करने के लिए एक जनआंदोलन की जरूरत है। उन्होंने आगे कहा, ‘भारतीयों के तौर पर, सभी राज्य सरकार को गोवध पर प्रतिबंध लगाना चाहिए।’ सुधाकर ने कहा कि गाय की ‘हमारी संस्कृति में पूजा होती है।’ उन्होंने कहा, ‘हमारी पार्टी मवेशियों के मांस पर प्रतिबंध के लिए प्रतिबद्ध है और जल्द ही इस पर फैसला लिया जाएगा।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles