गुजरात के बानसकांठा में तुगलकी फरमान सामने आया है। बानसकांठा के दांतीवाड़ा गांव में ठाकोर समुदाय ने अविवाहित लड़कियों के मोबाइल फोन इस्तेमाल पर बैन लगाने का फरमान लगाया है।

रविवार को जलोल गांव में हुई समुदाय की मीटिंग में कुछ फैसले लिए गए जिन्हें गांव के लोगों द्वारा संविधान की तरह माना जाता है। नए नियमों के मुताबिक अविवाहित लड़कियों को फोन नहीं दिया जाएगा और अगर कोई लड़की इस नियम को तोड़ती है तो इसे अपराध माना जाएगा। सजा के तौर पर लड़की के पिता से 1.50 लाख रुपए लिए जाएंगे।

alpesh

इसके साथ ही बैठक में तय हुआ कि जो परिवार अपने बच्चों का अंतरजातीय विवाह करेंगे उन पर डेढ़ व दो लाख रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। कांग्रेस विधायक गनीबेन ठाकोर ने इस फैसले का समर्थन करते हुए कहा कि उन्हें मोबाइल बैन करने के इस फैसले में कुछ भी गलत नजर नहीं आता। उन्हें इससे दूर रहना चाहिए और ज्यादा से ज्यादा समय पढ़ाई को देना चाहिए।

वहीं ठाकोर समुदाय के नेता और पूर्व कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोरने इस मुद्दे पर कहा, ‘शादी में खर्चों को कम करने के लिए नियम अच्छे हैं लेकिन अविवाहित लड़कियों को फोन ना रखने देने संबंधी नियम में कुछ समस्या है। अगर वे ऐसा नियम लड़कों के लिए भी बनाएं तो यह अच्छा होगा। मैं लव मैरिज के लिए बनाए नियम पर कुछ नहीं कह सकता, मेरी खुद की भी लव मैरिज ही हुई थी।’

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन