fateh

पलवल के बाद अब हरियाणा के फतेहाबाद जिले की एक मस्जिद के निर्माण में टेरर फंडिंग के इस्तेमाल का अारोप लगा है। गांव हसंगा में बाहर के कुछ लोगों ने मस्जिद का निर्माण कराया है। साथ ही ये भी आरोप है कि जिस जगह पर मस्जिद बनी है। वह पंचायत की जमीन है।

गांव के सरपंच के अनुसार, जिस जगह पर मस्जिद बनी है। वहाँ पर गरीब मुस्लिम परिवार सालों से रह रहा था वो जगह पंचायती जगह है। सरपंच सुरेंद्र कुमार के अनुसार इस मुस्लिम  परिवार को 10 साल पहले पंचायत की जगह पर बसाया गया था, इस परिवार का एक युवक कुलदीप खान संदिग्ध गतिविधियों में शामिल है और कई आपराधिक मामलो में पुलिस उसकी तलाश करते हुए अक्सर गांव में आती रहती थी।

उनका कहना है कि अभी भी वे पंजाब के संगरूर इलाके में पुलिस की गिरफ्त में है। पिछले महीने 14-15 तारीख को पंजाब के मानसा और मुंबई से कुछ लोग आए परिवार से 5 लाख देकर मस्जिद बनाने की बात कही। सरपंच ने कहा कि उन्हें पूरा अंदेशा है कि इसमें टेरर फंडिग होनी थी, क्योंकि जिस गांव में मुस्लिमों की संख्या ना के बराबर है उसमे मस्जिद बनाने का काम इसलिए ही किया जा सकता है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

masjid123

फतेहाबाद बजरंग दल के जिला संयोजक विकास ने बताया कि गांव हसंगा में मस्जिद के निर्माण को लेकर पुलिस को इस बात की शिकायत दी थी, लेकिन पुलिस ने मामले में कोई कार्रवाई नहीं की। जिसपर गांव के सरपंच को इस बात की जानकारी दी तो उसने पंचायत बुलाकर मस्जिद के निर्माण पर रोक लगा दी। इसके बाद गांव में रह रहे मुस्लिम परिवार को गांव छोड़कर जाने की बात कही गई।

वहीं इस मामले में भूना थाना एसएचओ ने बताया कि ग्रामीणों और संगठनों की शिकायत उच्चाधिकारियों के पास पहुंची है तो उच्चाधिकारियों के आदेशों और शिकायत प्राप्त होने पर वह मामले में जांच कर उचित कार्रवाई करेंगे।

Loading...