उत्तर प्रदेश के सहारनपुर (Saharanpur) में सरकारी बस अड्डे पर बने एक टॉयलेट काम्प्लेक्स को स्थानीय बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने ढहा दिया। कार्यकर्ताओं का कहना है कि यह मंदिर की दीवार से सटा हुआ है। लेकिन यह मंदिर से दूर था। साथ ही दोनों के बीच एक पतली गली भी है।

जानकारी के अनुसार, बुधवार को दोपहर में करीब साढ़े ग्यारह बजे हाथों में हथौड़े लेकर पहुंचे बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने “जय श्री राम” और “एक ही नारा एक ही नाम-जय श्री राम जय श्री राम” का नारा लगाते हुए टॉयलेट काम्प्लेक्स को एक ही बार में तोड़ दिया।

अखिल भारत हिन्दू महासभा के पश्चिमी यूपी के कथित अध्यक्ष विष सिंह कंबोज ने कहा कि, “दो दिन पहले हमारे जो हिन्दू योद्धा थे वे आए थे। दो दिन, 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया था। वहां से कोई कार्रवाई नहीं हो पाई तो हम लोगों ने खुद ही डिसाइड किया कि इसे धराशायी अपने आप करेंगे।”

वहीं मौके पर मौजूद सफाई सुपरवाइजर विमला ने कहा कि “यह टॉयलेट 40 साल पुराना है और टॉयलेट मंदिर से काफी फासले पर बना है। मंदिर और टॉयलेट के बीच में नाला भी है। हमने उन्हें तोड़ने को मना किया लेकिन नहीं माने। यहां बहुत भीड़ होती है। बहुत महिलाएं आती हैं। बताइए अब पब्लिक टॉयलेट के लिए कहां जाएंगी। आदमी भले खुले में चले जाएं, लेकिन बताइए अब महिलाएं कहां जाएंगी।”

दूसरी और सहारनपुर के एसपी सिटी विनीत भटनागर ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है। उन्होने कहा कि,”रोडवेज के लोगों से पता चला है कि यह टॉयलेट बहुत पुराना है। अभी उसका रेनोवेशन हुआ था। जिन लोगों ने उसे ध्वस्त किया है, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।”