बाबा साहेब आंबेडकर के पोते ने सड़क पर उतरकर जताया CAA के खिलाफ विरोध

मुंबई: सीएए (Citizenship Amendment Act) और NRC के खिलाफ देश भर में जारी विरोध-प्रदर्शन के बीच बाबा साहेब आंबेडकर के पौत्र और वंचित बहुजन आघाड़ी के प्रमुख प्रकाश आंबेडकर ने गुरुवार को भी मध्य मुंबई के दादरी टीटी सर्किल पर हजारों कार्यकर्ताओं के साथ विरोध-प्रदर्शन किया।

आंबेडकर ने दावा किया कि मुसलमानों के अलावा सीएए और एनआरसी से देश की कम से कम 40 प्रतिशत हिन्दू आबादी भी प्रभावित होगी और उसके कुप्रभावों को अभी भी ठीक से समझा नहीं गया है। उन्होंने कहा, ‘‘सीएए और एनआरसी से सबसे ज्यादा प्रभावित आदिवासी, वंचित जाति और घूमंतू जनजातियां होंगी। यह झगड़ा हिन्दू-मुस्लिम का नहीं है। यह आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) की नागरिकता बनाम संवैधानिक नागरिकता की लड़ाई है।’’

prakash ambedkar 630 630

दो घंटे तक चले इस आंदोलन से चौक पर यातायात बंद रहा लेकिन बाकी शहर अपनी रफ़्तार से चलता रहा। पूरा प्रदर्शन शांतिपूर्ण तरीके से ही अंजाम तक पहुंचा। नागरिकता संशोधन कानून (CAA) पर देश में तमाम जगहों पर चल रहे विरोध प्रदर्शनों के बीच महाराष्ट्र में भी इस कानून के खिलाफ लोग अपना विरोध दर्ज करा रहे हैं।

सूत्रों के मुताबिक विरोध कर रहे प्रदर्शनकारी आजाद मैदान तक मार्च कर सकते हैं। इस मोर्चे में कई आदिवासी समुदाय के लोग भी दिखे। इस बीच मुंबई पुलिस के प्रवक्ता प्रणय अशोक ने बताया है कि मोर्चे के दौरान सुरक्षा इतंजाम किए गए हैं। मार्च की स्थिति में उस वक्त फैसला किया जाएगा।

विज्ञापन