जेएनयू छात्र नजीब अहमद की वापसी को लेकर उत्तरप्रदेश के आजमगढ़ में  शिब्ली कॉलेज के छात्रों ने धरना प्रदर्शन कर सीबीआई जाँच की मांग की हैं.

एएमयू छात्र संघ उपाध्यक्ष नदीम अंसारी ने कहा कि पिछले तीन महीनों से देश की राजधानी दिल्ली से जेएनयू का एक निर्दोष छात्र नजीब अहमद लापता है. दिल्ली पुलिस अभी तक उसका पता नहीं लगा पायी है. उन्होंने कहा कि जब देश की राजधानी में छात्र महफूज नहीं हैं तो अन्य क्षेत्रों का क्या हाल होगा. जब तक नजीब मिल नहीं जाता संघर्ष जारी रहेगा.

महामंत्री नबील उस्मानी ने कहा कि नजीब की गुमशुदगी केवल किसी एक छात्र का मसला नहीं है बल्कि देश के हर छात्र से जुड़ा हुआ है. छात्रों की पहचान व सुरक्षा का विषय है. आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक एक मां को उसका खोया हुआ लाल नहीं मिल जाता.

पूर्व उपाध्यक्ष माजिन जैदी ने कहा कि एएमयू ने हमेशा छात्रों के हित की लड़ाई लड़ी है. खुफिया विभाग अब तक तलाश करने में नाकामयाब साबित हुई है जो उसकी कार्यकुशलता पर सवालिया निशान खड़ा करता है.

शिब्ली के पूर्व महामंत्री नुरूलहोदा ने कहा कि शिब्ली कालेज के छात्रों ने इस संघर्ष में हमेशा साथ दिया है और आगे भी जारी रखोंगे. यह संघर्ष नजीब की वापसी तक जारी रहेगा चाहे इसके लिए हमें सड़क से सदन तक घेरना हो, हम तैयार हैं.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें