नई दिल्ली : समाजवादी पार्टी के नेता आज़म खान अपने बेबाक बयानों की वजह से चर्चाओं में रहते हैं. इस बार वो  प्रवीण तोगड़िया पर तंज कसते नज़र आये उन्होंने कहा कि, तोगड़िया मुसलमानों को उनके घरों से निकालने को कहते थे लेकिन अब RSS उन्हें अपने घर से निकाल रही है.

ये बातें आज़म खान ने रामपुर में पत्रकारों से बात करते हुए कहीं. उन्होंने कहा कि प्रवीण तोगड़िया किसी पार्टी में नही हैं, आरएसएस ने उन्हें विश्व हिन्दू परिषद का अध्यक्ष बनाया था. लेकिन अब सब कुछ उल्टा हो रहा है वही अब आरएसएस उन्हें उनके घर से निकाल रहा है. इसके बाद आज़म खान ने कहा कि ये उनका निजी मसला है.

इसी के साथ आज़म खान राज्यपाल राम नाईक पर भी चुटकी लेते नज़र आये. जब पत्रकारों ने आज़म खान से सवाल से पूछा गया गया था कि यूपी के राज्यपाल ने योगी सरकार की तारीफें की हैं. इसके जवाब में आज़म खान ने कहा कि राज्यपाल राम नाईक का कार्यकाल जल्दी ही पूरो होने वाला है. अगर मुख्यमंत्री नहीं चाहेंगे तो वह राज्यपाल नहीं बनाए जाएँगे. न यहां के रहेंगे और न कहीं के रहेंगे.

आज़म खान ने राम नाईक पर तंज करते हुए कहा कि खुशामद करना तो उनकी मजबूरी है. क्योंकि नौकरी में बने रहना है तो योगी योगी कहना होगा. इसके बाद मुजफ्फरनगर दंगों के केस वापसी होने की खबरों पर आज़म खान ने कहा कि 302 और 307 जैसी धाराऐं गंभीर अपराध की श्रेणी में आते हैं. आम तौर पर कोई सरकार इन मुकदमों को वापस लेकर गिरा हुआ काम नहीं कर सकती है. उन्होंने कहा कि भाजपा इतना नहीं गिरेगी कि गुंडे अपराधियों केस वापस लेगी.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें