उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी को मिली करारी हार के बाद अखिलेश यादव को एक यह फैसला लेना होगा कि विधानसभा में विपक्ष का नेता किसे बनाया जाए.

चूँकि अखिलेश यादव तो विधान परिषद के सदस्य हैं. ऐसे में उन्हें अपने किसी विधायक को विपक्ष का नेता बनाना होगा. माना जा रहा हैं कि अखिलेश यादव की नजर में आज़म खान इस पद के लिए सबसे बेहतर माने जा रहे हैं.

इसी के साथ शिवपाल सिंह यादव को भी ये जिम्मेदारी सौंपी जा सकती हैं. अखिलेश ने इस सिलसिले में पार्टी के नवनिर्वाचित 47 विधायकों की बैठक 16 मार्च को बुलाई है. अब देखना होगा कि 16 मार्च को होने वाली बैठक में इस पद के लिए किस के नाम पर मुहर लगती हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

एक तरफ आज़म खान को विधानसभा की कार्यवाही का भरपूर अनुभव है. साथ ही वे अखिलेश और मुलायम दोनो के विश्वासपात्र भी माने जाते हैं. दूसरी तरफ हार के बाद पार्टी में और मुलायम सिंह की नजर में शिवपाल सिंह की अहमियत और बढ़ गई हैं.

Loading...