pakoda

pakoda

प्रधानमंत्री द्वारा पकोड़े बेचने को रोजगार में शामिल बताए जाने पर बेरोजगार युवक भड़क उठे है. देश भर में बेरोजगार युवक पकोड़े बेच प्रधानमंत्री के इस बयान का कड़ा विरोध कर रहे है. बंगलुरु, ऋषिकेश आदि के बाद इस तरह का नजारा यूपी के रामपुर में भी देखने को मिला.

समाजवादी पार्टी की तरफ से नौजवान, बेरोजगारों और छात्रों ने पकौड़े के ठेले लगाए. इन ठेलों से सपा के वरिष्ठ नेता आजम खान भी पकौड़े ख़रीदते हुए दिखाई दिए. पकोड़े खाने के बाद आजम खान ने पीएम नरेंद्र मोदी से बेरोजगारों को रोजगार देने की मांग की.

उन्होंने कहा, यहां पर स्कूल और कॉलेज के कुछ छात्रों ने पकौड़े के स्टाल अंबेडकर पार्क में लगाए थे, जिन्हें कुछ पुलिस वालों ने खदेड़ दिया. इसे प्रधानमंत्री जी व्यंग न माने. उन्होंने एक अच्छा मशवरा दिया है छात्रों को. वे सबको राय दे रहे हैं कि वे बेकार न रहें.

आजम ने आगे कहा, यही हमने भी प्रधानमंत्रीजी को सलाह दिया था. आप देश के सारे काम रोककर नौकरियां दीजिए. पुल, सड़क सभी काम को रोककर पार्लियामेंट से बजट पास करवाकर सिर्फ बहुसंख्यक समाज के बच्चों को नौकरी दें. ताकि वे मोटरसाइकिल से रैलियां बंद कर दें, हाथों से हथियार फेंक दें. उन्हें काम चाहिए. वो किसी के मोहल्लों में घुसकर अराजकता न फैलाएं.

ध्यान रहे सोमवार को राज्यसभा में अपने पहले भाषण में  भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अध्यक्ष अमित शाह ने प्रधानमंत्री के ‘पकौड़े वाले’ बयान का समर्थन किया और कहा, “पकौड़े बेचना कोई शर्म की बात नहीं है. बेरोजगारी से बेहतर है कि युवा पकौड़े बेच लें.”

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?