रामपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को उस समय अजान के वक्त अपने भाषण को रोक दिया. जब वे त्रिपुरा में बीजेपी की जीत को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं को समर्पित कर रहे थे.

दरअसल, प्रधानमंत्री मोदी का जब भाषण शुरू हुआ था तभी अज़ान होने लगी तो उन्होंने कार्यकर्ताओं को निर्देश देते हुए दो मिनट चुप रहने को कहा. हालांकि, कुछ और मस्जिदों में अज़ान होने के कारण यह विराम दो मिनट से अधिक समय तक जारी रहा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस बारें में समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री आजम खान ने कहा कि अजान के वक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल इसलिए चुप हो गए, क्योंकि उन्हें अल्लाह का खौफ है. उन्होंने कहा कि यह तुष्टीकरण नहीं है, बल्कि अल्लाह का खौफ है.

साथ ही उन्होंने पीएम मोदी के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री शरीयत के तहत अपने फैसले ले रहे है. चाहे नोटबन्दी हो,  हज सब्सिडी की समाप्ति हो या तीन तलाक़ पर कानून. सभी फैसले इस्लामिक कानून के अंतर्गत लिये गए है.

आज़म खान ने नोटबन्दी का स्वागत करते हुए कहा कि धन जमा करना इस्लामी नियमों के के विरुद्ध है. वहीँ हज पर दी जाने वाली सब्सिडी की समाप्ति भी शरीयत के तहत सही है. तीन तलाक़ कानून को भी उन्होंने इस्लामी शरीयत के अनुसार बताते हुए कहा कि अगर इसमें थोड़ा संशोधन हो जाए, तो यह बहुत अच्छा है.

Loading...