अयोध्या में 300 साल पुरानी आलमगीर मस्जिद की हालात अब जर्जर अवस्था में हैं जिसके चलते अयोध्या के स्थानीय निकाय ने आलमगिरी मस्जिद को खतरनाक बता कर नोटिस जारी कर दिया हैं. इस नोटिस के अनुसार अब मस्जिद में जाना खतरनाक है.

ऐसे में हनुमानगढ़ी ट्रस्ट ने इस मस्जिद के पुननिर्माण का फैसला लिया हैं. जिसके तहत अब मस्जिद वाले स्थान पर न केवल दोबारा मस्जिद का दुबारा पुननिर्माण होगा बल्कि उसका खर्च ट्रस्ट वहन करेगा साथ ही मसजिद में नमाज पढ़ने की अनुमति भी दी जायेगी.

मंदिर के महंत ज्ञानदास के मुताबिक ट्रस्ट ने मुस्लिम भाइयों से मस्जिद निर्माण का काम कराने को कहा है जिसके बाद ट्रस्ट ने पूरा खर्च वहां करने का फैसला किया है. गौरतलब रहें कि इस मस्जिद की तामीर 17वीं शताब्दी में औरंगजेब के ही एक सेनापति ने की थी और इसका नाम आलमगीर रखा था. 1756 में ये जगह हनुमानगढ़ी मंदिर ट्रस्ट को दान में दे दी गई थी.

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano