Nation going to kill off the Union family patriotism certificate dispense Kre- release platform

लखनऊ  रिहाई मंच ने मोहर्रम के अवसर पर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में हुई साम्प्रदायिक हिंसा की घटनाओं को सरकार के सरंक्षण में साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण कराने की साजिश का हिस्सा बताया है। रिहाई मंच ऐसे इलाकों का दौरा करेगा। रिहाई मंच द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में लखनऊ रिहाई मंच प्रवक्ता अनिल यादव ने कहा है कि मुहर्रम जूलूस पर हमला करने वाले भाजपा के लोग हैं।

राजीव यादव ने बलिया के सिकंदरपुर, कानपुर के जूही थाना अंतर्गत परमपुरवा और कल्याणपुर थाना अंतर्गत रावतपुर, अम्बेडकरनगर, बलरामपुर, कुशीनगर में मोहर्रम के अवसर पर संघ गिरोह और भाजपा से जुड़े अराजक तत्वों द्वारा ताजिया जुलूसों पर हमलों को निकाय चुनाव की तैयारी का हिस्सा बताया है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा कि बलिया के सिकंदरपुर में हुई हिंसा के वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि मुसलमानों पर पुलिस की मौजूदगी में दंगाई पत्थरबाजी कर रहे हैं। इसी तरह कानपुर में पुलिस पीड़ित मुसलमानों को ही फंसा रही है।  अनिल यादव ने बताया कि रिहाई मंच जल्द ही इन घटनास्थलों का दौरा करेगा।

गौरतलब है की बीते रविवार को उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर मुहर्रम के जूलूस के दौरान हिंसा हो गई थी। बलिया के सिकंदरपुर में तो पुलिस को स्थिती काबू करने के लिये कर्फ्यू भी लगाना पड़ा है। इस हिंसा में एसे भी वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं जिसमें पुलिस द्वारा बलवाईयों का साथ दिया जा रहा है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में यह भी दिखाया गया है कि बलवाईयों द्वारा पत्थर फेंकने पर न सिर्फ मूकदर्शक बनी है बल्कि खुद बलवाईयों के साथ मिलकर दूसरी तरफ के लोगों पर पत्थरबाजी कर रही है। ऐसे कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुऐ हैं जो पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल उठा रहे हैं।

Loading...