lucknow

लखनऊ. लखनऊ विश्व विद्यालय में उस वक्त हंगामा मच गया जब बुधवार को बाहरी लोगों और पूर्व छात्रों ने शिक्षकों पर हमला कर दिया। इन लोगों ने प्रॉक्टर, डीएसडब्ल्यू, डीन सीडीसी की जमकर पिटाई की।

इस घटना के बाद लखनऊ विश्वविद्यालय को बंद कर दिया गया है। साथ ही विश्वविद्यालय ने विश्वविद्यालय में प्रवेश के लिए जारी काउंसलिंग को रोक दिया है। विश्वविद्यालय में कई थानों की पुलिस तैनात कर दी गई है।

लखनऊ यूनिवर्सिटी की तरफ से ट्वीट कर मुख्यमंत्री और डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा को इस हमले की जानकारी दी गई। ट्वीट मे कहा गया, लखनऊ यूनिवर्सिटी के टीचरों पर कैंपस के अंदर असामाजिक तत्वों और बाहरी लोगों द्वारा बुरी तरह हमला किया गया है।

इस हमले में प्रॉक्टर और उनकी टीम, डीएसडब्ल्यू, डीन सीडीसी घायल हो गए हैं। पुलिस बिलकुल सहयोग नहीं कर रही है। टीचरों ने एडमीशन काउंसिलिं​ग रोक दी है। यूनिवर्सिटी अगले आदेशों तक बंद कर दी गई है।

बताया जा रहा है कि पिछले साल सीएम योगी आदित्यनाथ को काला झंडा दिखाने के आरोपी कई छात्रों को विश्व विद्यालय ने दाखिला देने से इंकार कर दिया था। दाखिला न मिलने के विरोध में यूनिवर्सिटी परिसर में ही छात्रों की भूख हड़ताल शुरू कर दी थी।

मामले में कुलपति प्रो.एसपी सिंह ने कहा कि उन पर भी बाहरी लोगों ने हमला किया। कुलपति की गाड़ी पर पथराव किया गया। कई शिक्षकों को चोटें आई हैं। विवि प्रशासन ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा है कि जब तक हालात नहीं सुधरते विश्वविद्यालय बंद रहेगा।

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?