देवबंद (सहारनपुर) – उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में आज उस समय माहौल गर्म हो गया जब पेशी पर आये मौलाना मसूद मदनी पर हिन्दुद्त्वादी संगठनों ने हमला कर दिया, उन्हें पुलिस की गाडी से खींचने की कोशिश की गयी. वहीँ मौलाना का कहना है कि उनके जीवन को खतरा पैदा हो गया था। बडी मुश्किल से उनकी जान बची। मसूद मदनी राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) के पूर्व सांसद एवं जमीयत उलमा ए हिन्द के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना महमूद मदनी के छोटे भाई हैं।मसूद मदनी पिछले 18 मार्च से सहारनपुर के बाल कारागृह में बंद हैं।

आज मुकदमे की पेशी पर वह अपर जिला मजिस्ट्रेट देवबंद रामनेत्र सिंह यादव की अदालत में पेशी पर आए थे। अदालत ने उनका रिमांड बढाकर पुन: जेल भेजने के आदेश दिए। पुलिस ने बताया कि हमलावरों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की गई है। उन्होंने बताया कि जब मसूद मदनी पेशी से बाहर आकर अदालत परिसर में पुलिस गाडी में बैठे थे तो लाठी-डंडो से लैस 25 से ज्यादा विभिन्न संगठनों के कार्यकर्ताओ और वकीलों ने हमला कर गाडी का शीशा तोड दिया।

मदनी को घूसों से मारा-पीटा। आक्रोशित लोगों ने जमकर नारेबाजी की। उनका आरोप था कि पुलिस मसूद मदनी से साठगांठ किये हुए है और उसे जेल के बजाए बाल कारागृह में रखकर सभी सुविधाएं दी जा रही है। पुलिस ने दुष्कर्म में शामिल उसके साथियों को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया। पुलिस ने आज हुए हमले की वीडियोग्र्राफी में कई लोगों के नाम पहचान लिए हैं।

इसमें भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) देवबंद नगर अध्यक्ष गजराज राणा, देहात अध्यक्ष उपेंद्र चौधरी, ईशान गौड, बजरंग दल के विकास त्यागी आदि के खिलाफ नामदज रिपोर्ट में दर्ज कराई है। बाकी हमलावरों की पहचान की जा रही है। हमला करने वालों में से अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई है

video – Patrika

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?