प्रचार के दौरान कन्हैया के काफिले पर हमला, हुई मारपीट और धक्का-मुक्की

11:13 am Published by:-Hindi News

बिहार के बेगूसराय जिले में बुधवार को जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और सीपीआई के उम्मीदवार कन्हैया कुमार पर प्रचार के दौरान हमले की खबर है। कन्हैया ने इसके लिए सीधे बीजेपी उम्मीदवार गिरिराज सिंह को जिम्मेदार ठहराया है।

जानकारी के अनुसार, बेगूसराय के कपसिया चौक से निकलकर लोहियानगर पहुंचने पर कन्हैया के रोड शो का विरोध किए जाने के साथ उन्हें काले झंडे दिखाए गए। विरोध करने वालों ने कन्हैया के समर्थकों के साथ धक्का-मुक्की, मारपीट किया और अभद्र भाषा का प्रयोग करने के साथ आपत्तिजनक नारेबाजी की।

इस मामले में पुलिस ने वीडियो फुटेज के आधार पर आरोपियों की शिनाख्त शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है कि आरोपियों की पहचान होते ही उनपर FIR की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। लोहियानगर पुलिस चौकी में पदस्थापित सहायक आरक्षी निरीक्षक महेश प्रसाद सिंह ने इस संबंध में इस चौकी के थाना अध्यक्ष को लिखित आवेदन दिया है। इसमें अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता गोलू कुमार पर अपने चार-पांच अन्य कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर ऐसा आचरण करने और उनके इस आचरण को चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन बताया है।

कन्हैया कुमार ने सीधे-सीधे गिरिराज सिंह पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह हार मान चुके हैं। गिरिराज सिंह को भय है कि कन्हैया जीत जाएगा, इसलिए अब गिरिराज सिंह लोकतंत्र की हत्या करते हुए अपने गुंडों द्वारा हमलों जैसी घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। कन्हैया कुमार ने सीधे-सीधे इसे राजनीतिक साजिश करार देते हुए कहा कि पहले तो हमारी सुरक्षा हटा ली गई और बाद में आज रोड शो के दौरान गिरिराज सिंह के गुंडों ने हमारे काफिले पर हमला किया और रोड शो के दौरान बाधा पहुंचाई।

कन्हैया कुमार ने कहा कि अगर आप वीडियो क्लिप देखें तो इस घटना के दौरान वही लोग शामिल हैं जो गिरिराज सिंह के साथ सेल्फी लेकर सोशल मीडिया पर वायरल कर रहे हैं और उनके लिए चुनावी कैंपेन कर रहे हैं। कन्हैया कुमार ने कहा कि गिरिराज सिंह के पास जिलेवासियों के लिए कोई मुद्दा नहीं बचा है और बिना मुद्दों के वह जब जनता के बीच जा रहे हैं तो उन्हें अपमानित होना पड़ रहा है। इसी फ्रस्ट्रेशन में गिरिराज सिंह के आदेश पर उनके गुंडे ऐसी घटनाओं को अंजाम दे रहे है।

वहीं, बेगूसराय से बीजेपी प्रत्याशी गिरिराज सिंह ने कन्हैया का नाम लिए बिना उनकी ओर इशारा करते हुए कहा कि यहां उनकी सीधी लडाई विकृत मानसिकता, विकृत राष्ट्रवाद की सोच, देश को तोडने वालों, आतंकवाद को गले लगाने वालों, भारत के शौर्य एवं एयर स्ट्राइक को नकारने वालों, भारत में कौन सा चाहिए सबूत वाला या सपूत वाला और बेगूसराय में विकास को रोकने वालों से है।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें