फिल्म पद्मावत के विरोध में कथित तौर पर करणी सेना द्वारा गुड़गांव में स्कूल बस को निशाना बनाये जाने पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ”जिन ताकतों ने मुस्लिमों को मारा और दलितों को जलाया वे अब हमारे घरों में अतिक्रमण कर रही हैं और हमारे बच्चों के पीछे हैं.’’

उन्‍होंने करणी सेना की तुलना रावण से करते हुए कहा, ‘छात्रों के हमले वाले वीडियो को देखकर मैं रातभर सो नहीं सका. इस वीडियो को देखकर मैं विचलित हो गया. यह घोर निंदनयी है.’ केजरीवाल ने कहा कि इन लोगों को रावण की तरह से ही सजा मिलनी चाहिए.

केजरीवाल ने कहा कि जाति-धर्म के नाम पर लड़ाने की बातें हो रही हैं, वो अच्छा नहीं है.  उन्होंने मुसलमानों को मारा चुप रहे, दलितों को पीटा चुप रहे, लेकिन अब वो बच्चों को भी मार रहे हैं. हमला कर रहे हैं. आपके घरों में घुस आए हैं. अब जवाब देना होगा. चुप मत बैठिए.

उत्तरी दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में राज्य स्तरीय गणतंत्र दिवस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा, कहा कि यह शर्म की बात है कि गणतंत्र दिवस से पहले राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से कुछ किलोमीटर दूर स्कूली बच्चों पर पथराव किया गया.

सीएम ने कहा, ‘‘यह राम, कृष्ण, गौतम बुद्ध, महावीर, गुरु नानक, कबीर और मीरा तथा पैगम्बर मोहम्मद और ईसा मसीह के अनुयायियों की धरती है. मैं पूछना चाहता हूं कि क्या पथराव करने वाले हिंदू, मुस्लिम या ईसाई थे? कौन सा धर्म बच्चों के खिलाफ हिंसा सिखाता है?’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं यह मुद्दा गणतंत्र दिवस से एक दिन पहले भरे मन से उठा रहा हूं क्योंकि मैं अपने देश से प्रेम करता हूं. मैं देश में ऐसी हिंसा नहीं देख सकता. यहां पर लोग अपने देश से प्रेम करते हैं और शांति एवं प्यार चाहते हैं. मैं केंद्र के हुक्मरानों से अनुरोध करता हूं कि कृपया हमें छोड़ दें.’’

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें