viral video 2 620x400

देश की राजधानी दिल्ली में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचे समाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश के साथ बीजेपी समर्थकों ने मारपीट की थी। अब बिहार के मोतीहारी स्थित केंद्रीय विश्वविद्यालय में एक असिस्टेंट प्रोफेसर को वाजपेयी पर टिप्पणी करने के लिए जिंदा जलाने की कोशिश की गई।

यूनिवर्सिटी में समाजशास्त्र विभाग के प्रोफेसर संजय कुमार के सहयोगियों ने बताया कि मारपीट में उन्हें गंभीर चोटें आई हैं। वह बार-बार बेहोश हो रहे हैं। पुलिस को संजय कुमार ने अपनी शिकायत में बताया कि वह मोतिहारी के आजाद नगर स्थित अपने कमरे में थे, तभी राहुल पांडे और अमन बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में 20-25 लोगों ने उनपर हमला कर दिया और हत्या करने की कोशिश की।

प्रोफेसर के मुताबिक हमले के वक्त आरोपी ने उनसे कहा कि ‘मैं क्यों मोतिहारी यूनिवर्सिटी के वीसी और अन्य लोगों के खिलाफ बोलता हूं।’ बता दें प्रोफेसर ने फेसबुक पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहार वाजपेयी के खिलाफ आलोचनात्मक पोस्ट शेयर की थी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

जानकारी के मुताबिक प्रोफेसर संजय कुमार संग मारपीट में राहुल कुमार पांडे और संजय वाजपेयी के अलावा अमन बिहारी वाजपेयी, पुरुषत्तोम मिश्रा, रविकेश मिश्रा, ज्ञानेश्वर गौतम, संजय कुमार सिंह (दैनिक भास्कर का लोकल ब्यूरो चीफ), डॉक्टर पवनेश कुमार सिंह, दिवाकर कुमार सिंह, दिनेश व्यास, जितेंद्र गिरी और राकेश पांडे के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

सभी आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 323, 325, 341, 147, 148, 149, 365, 448, 506 और 120-B के तहत केस दर्ज किया गया है। मोतीहारी स्थित सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ बिहार के टीचर्स एसोसिएशन ने इस घटना की कड़ी निंदा की है। एसोसिएशन का कहना है कि यह सब एक सुनियोजित साजिश के तहत किया गया है और इसमें हमलावरों को विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर की शह भी हो सकती है।

Loading...