sahni

लखनऊ: एटीएस के एएसपी राजेश साहनी की पत्नी सोनी साहनी ने बताया कि राजेश साहनी एटीएस से तबादला चाहते थे। क्योंकि वह तनाव में थे। तनाव की वजह उन्होने उत्तराखंड से कथित आईएसआईएस एजेंट रमेश की गिरफ्तारी को बताया।

पत्नी का कहना है कि इसके बाद से राजेश साहनी ने जिक्र किया था कि वह तबादला चाहते थे। उन्होंने कहा कि वह ऑफिस की बातें घर पर नहीं करते थे, लेकिन साथ रहने के दौरान तनाव को महसूस किया था। पत्नी ने कहा कि घर में ऐसा कुछ नहीं हुआ था कि सुसाइड जैसा कदम उठाया जाता। घर में ऐसी कोई बात नहीं थी। परिवार में भी कोई विवाद नहीं था।

उन्होंने कहा कि जिस दिन घटना हुई उस दिन भी कोई विवाद नहीं था, जिसके चलते वह ख़ुदकुशी जैसा कदम उठाते।  बता दें कि 29 मई 2018 को एटीएस के एएसपी राजेश साहनी की गोली लगने से मौत हो गई थी। इसे शुरुआत में ख़ुदकुशी की बात कही जा रही थी, लेकिन इस घटना को संदिग्ध माना गया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसी बीच उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने कहा कि एटीएस के एसीपी राजेश साहनी की मौत मामले में फिलहाल अभी केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराने का फैसला नहीं लिया गया है। उन्होंने कहा कि जांच कमेटी की रिपोर्ट पर ही कोई निर्णय लिया जाएगा।

उन्होंने स्वीकार किया, ‘एसीपी राजेश साहनी की मौत के मामले में लखनऊ जोन के आईजी असीम अरुण ने जांच सीबीआई से कराने के लिए उन्हें एक पत्र लिखा है, जिसका अध्ययन किया जा रहा है। हमने एक जांच कमेटी गठित की थी, जिसकी रिपोर्ट आ गई है, उसके आधार पर जो भी उचित होगा, निर्णय लिया जाएगा। फिलहाल अभी सीबीआई से जांच कराने का फैसला नहीं किया गया है।’

Loading...