asp

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के आने के साथ ही पुलिस और प्रशासन पर राजनीति हावी हो रही है। पुलिस को बीजेपी नेताओं के दबाव में काम करना पड़ रहा है। कई ऐसे मामले सामने आए जिन अफसरों ने भगवा सीमा को क्रॉस किया उनकी विदाई कर दी गई।

ऐसे में अब मऊ में अपर पुलिस अधीक्षक (एएसपी) शैलेंद्र कुमार श्रीवास्तव का एक विडियो वायरल हो रहा है। जिसमे वे बीजेपी कार्यकर्ताओं के आगे हाथ जोड़ कर बोल रहे है कि वह ऐसा कुछ भी नहीं करेंगे कि जिससे उन्हें यहां से जाना पड़े।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

विडियो में वह कह रहे है कि ‘गंदगी ऐसी हो गई है इस जमाने में कि इन गधों को जहां नहीं जाना चाहिए वो होता है, कुछ न कुछ ऐसा लग जाता है कभी अपने लिए कभी अपने साथियों के लिए, कभी अपने कार्यकर्ताओं के लिए जाना पड़ता है और इस बात के लिए यह व्यवस्था बनाई गई है।’ इतना बोलने पर बीजेपी कार्यकर्ता द्वारा कोई सवाल किया गया, जिस पर एएसपी ने कहा, ‘…आपकी बात सुन रहे हैं, जो आप कह रहे हैं वह सब हो जाएगा। मेरा केवल इतना अनुरोध है… अध्यक्ष जी से मेरी बात हुई है कागजी कार्रवाई करेंगे और बिना किए नहीं जाएंगे… हम सब करवा देंगे।’

एएसपी ने आगे कहा, ‘हमारा खुद का तय नहीं है हम यहां अच्छी बात कर रहे हैं तो बैठे हुए हैं, टेठी बात कर देंगे तो हटा देंगे…. डीएम देवरिया से गलती हुई तो वो चले गए… तो ऐसा कुछ हम नहीं करेंगे कि हम यहां से जाएं।’

बता दें कि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने कोपागंज जनपद मऊ के थानाध्यक्ष रामकृष्ण द्विवेदी सहित दो एसआई के ऊपर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। इसके साथ ही बीजेपी कार्यकर्ता कोपागंज थाने के सामने धरना प्रदर्शन भी कर रहे हैं। कार्यकर्ताओं की मांग है कि रामकृष्ण द्विवेदी को पद से हटाया जाए। इसी मामले में एएसपी शैलेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने बीजेपी कार्यकर्ताओं से मुलाकात की।

Loading...