पाटीदार समिति के शीर्ष नेता राहुल देसाई ने 2002 में गोधरा स्टेशन पर ट्रेन में हुई आगजनी की घटना को एक साजिश करार देते हुए इसके लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया हैं. राहुल ने कहा कि अगर 2002 में गोधरा ट्रेन हादसा नहीं होता, तो मोदी दोबारा कभी मुख्यमंत्री नहीं बनते.

राहुल देसाई ने कहा, “मुझे नहीं पता की गोधरा में ट्रेन में आग मुसलमाने लगाई या नहीं पर इतना यकीन है की यह बीजेपी की सोची समझी साजिश थी जिससे उन्हें इलेक्शन में सत्ता हासिल करने में फ़ायदा होता. इस प्रचार ने लोगों को सांप्रदायिक बना दिया.

उन्होंने कहा, मैं आज भी इसके लिए  ठगा हुआ सा महसूस करता हूँ. उन्होंने आगे कहा, हिन्दुओं को आज भी लगता है की मुसलमान उन्हें मार देंगे और सब लूट लेंगे लेकिन यकीनन अगर मुसलमान ऐसा न करें तो बीजेपी ज़रूर ऐसा कर देगी.

पाटीदार नेता ने कहा कि गोधरा कांड भाजपा की सोची समझी चाल थी, जिससे उनको राजनीतिक फ़ायदा मिला. और मोदी मुख्यमंत्री बनते चले गए.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें