सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि कश्मीर में कट्टरपंथ से गंभीरता के साथ निपटा जा रहा है. उन्होंने कट्टरपंथ  के लिए सोशल मीडिया को जिम्मेदार ठहराया.

एक दिन के दौरे पर जम्मू पहुंचे रावत ने कहा कि ‘‘कट्टरपंथ हो रहा है। ऐसा पूरी दुनिया में हो रहा है। हम काफी गंभीरता से इससे निपट रहे हैं.’’ उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर सरकार, पुलिस, प्रशासन और हर कोई कट्टरपंथ को लेकर चिंतित है.

रावत ने कहा, ‘‘हम यह सुनिश्चित करने का प्रयास कर रहे हैं कि लोग इस तरह के कट्टरपंथ से दूर रहें.’’ सेना प्रमुख ने लोगों के कट्टरपंथी बनने के लिए सोशल मीडिया को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा, ‘‘ऐसा (कट्टरपंथ) मुख्यत: सोशल मीडिया की वजह से हो रहा है.’’

इस दौरान उन्होंने चोटी काटने की कथित घटनाओं के मुद्दे को ‘‘सामान्य विषय’’ करार दिया और कहा कि इससे नागरिक प्रशासन और पुलिस को निपटना है. सेना प्रमुख ने कहा कि ऐसा देश के अन्य इलाकों में भी हो रहा है और अब ऐसा कश्मीर में भी होने लगा है.

यह पूछने पर कि क्या अलगाववादी इसका फायदा घाटी में अशांति फैलाने में कर रहे हैं तो उन्होंने कहा कि इसके पीछे की सच्चाई को सामने लाने में मीडिया की भूमिका अहम है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें