छत्तीसगढ़ की युवती से बलात्कार के मामले में गिरफ्तारी से बचने के लिए बीमारी का बहाना बना कर अस्पताल में भर्ती फलाहारी बाबा उर्फ़ जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी कौशलेंद्र प्रपन्नाचारी आखिरकार पुलिस की गिरफ्त में आ गया है.

पुलिस ने पहले बाबा से पूछताछ की और फिर गिरफ्तार कर  प्रायवेट अस्पताल से सरकारी अस्पताल में शिफ्ट कर दिया है. इस दौरान बाबा बिलकुल फिट पाया गया. साथ ही बाबा का पोटेंसी टेस्ट भी पॉजिटिव पाया गया. पुलिस ने मधुसूदन सेवाश्रम के उस कमरे को सील को सील कर दिया जिसमें बाबा ने पीड़िता के साथ बलात्कार किया था.

ध्यान रहे बिलासपुर की लड़की ने फलाहारी महाराज पर उसके साथ आश्रम में बलात्कार करने के मामले में रिपोर्ट दर्ज कराई है. जिसके बाद से ही बाबा अलवर के बसंत विहार स्थित हॉस्पिटल में खुद जाकर भर्ती हो गया था. आईसीयू में भर्ती होने की वजह से उससे पुलिस पूछताछ भी नही कर पा रही थी.

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अर्चना झा ने बताया कि पीड़िता कानून की पढ़ाई के दौरान बीते सात अगस्त को उनके आश्रम गयी थी. महाराज ने उसी दिन अपने एक शिष्य की मदद से पीडिता को अपने कक्ष तक बुलाया और उसके साथ यौन बलात्कार किया.

अलवर एडिशनल एसपी पारस जैन ने बताया कि बाबा को धारा 376 (2एच) और 506 के तहत अरेस्ट किया गया है। इसके बाद बाबा का मेडिकल टेस्ट करवाया गया. यहां इसका फिजिकल और मेंटल टेस्ट किया गया. इसके अलावा पोटेंसी टेस्ट भी हुआ. सभी टेस्ट में बाबा फिट निकला.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?