हालिया यूपी न्यायिक सेवा परीक्षा 2016 के परिणाम ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के संस्थापक के द्विशती समारोह की ख़ुशी को दोगुना कर दिया.

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) द्वारा आयोजित उत्तर प्रदेश न्यायिक सेवा परीक्षा 2016 के परिणामस्वरूप एएमयू ने 10 और सिविल जज प्रदेश की सेवा में दिए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के आवासीय कोच अकादमी के निदेशक प्रोफेसर सगीर अहमद खान ने बताया कि एएमयू के 10 छात्र ने प्रतिष्ठित न्यायिक सेवा की अर्हता प्राप्त की. जिसमे 6 लड़के और 4 लड़कियां है.

सफल छात्रों को बधाई देते हुए, एएमयू के प्रोफेसर तारिक मंसूर ने कहा कि यह द्विशती वर्ष एक ऐसा समय था जहां हमने अपने गौरवशाली इतिहास की पुनरीक्षण करके संस्थापक के मिशन के प्रति अपनी वचनबद्धता को मजबूत किया है और राष्ट्रों के शैक्षिक मानचित्र पर हमारी उपस्थिति के जरिये लौटने पर जोर दिया है.

उन्होंने कहा, यह पूरे एमयूयू बिरादरी के लिए एक गर्व का क्षण है कि हाल ही के वर्षों में लगभग हर रैंकिंग में हमारा विश्वविद्यालय उभरा है. उन्होंने विद्यार्थियों को अपने शैक्षिक और पेशेवर सपनों को पूरा करने में हर मदद का आश्वासन दिया.

यूपी न्यायिक सेवा परीक्षा 2016 में कामयाबी हासिल करने वाले छात्र

श्री रमन अहमद सिकरेड 15 वीं रैंक, श्री आतीफ सिद्दीकी 36 वीं रैंक, श्री शशांक गुप्ता 65 वीं रैंक, सुश्री अकंसा बंसल 67 वीं रैंक, सुश्री चारू सिंह 83 वीं रैंक, श्री फूसेन्द्र चौधरी 119 वीं रैंक, सुश्री स्वाती सिंह 151 वीं रैंक, श्री एम आरिफ 162 वीं रैंक, श्री युगुल शंभू 199 वीं रैंक और श्री अनुराग सिंह ने 213 वीं रैंक हासिल की है.