भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह मध्यप्रदेश दौरे पर राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ एक आदिवासी के घर खाना खाने पहुंचे लेकिन इस दौरान उन्हें शौचालय को लेकर बड़ी फजीहत का सामना करना पड़ा.

दरअसल, रातीबड़ थाना के सेवनिया गोंड गांव में आदिवासी कमल सिंह उईके के घर पहुंच कर अमित शाह और शिवराज सिंह चौहान ने दाल-बाटी का मजा लिया. लेकिन जब बीजेपी नेताओं के लौटने के बाद कमल सिंह से उसकी घर की स्थिति को लेकर सवाल किए तो उसने बताया कि वह मजदूरी कर परिवार का भरण-पोषण करते हैं, उसके परिवार में सात सदस्य है, मगर शौचालय नहीं है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उसका कहना है कि निगम में आवेदन किए छह महीने से ज्यादा का समय हो चुका है, लेकिन अब तक शौचालय नहीं बना है. ऐसे में अमित शाह के उस दावे की पोल खुल गई जिसमे उन्होंने कहा था कि देश में साढ़े चार करोड़ शौचालय बन चुके है.

कमल की पत्नी ने कहा कि गांव में शौचालय बन रहे हैं, हो सकता है कि उसके यहां भी जल्दी बन जाए. कमल के बेटे को तो इस बात का भरोसा है कि शाह के आने के बाद तो उनके घर में शौचालय बन ही जाएगा.

इस घटना को लेकर कांग्रेस ने कहा कि सरकार के स्वच्छता अभियान के दावों की पोल खुल गई है. साथ ही शौचालय विहीन आदिवासी के घर पर लंच कराने को प्रदेश बीजेपी के षड्यंत्र का हिस्सा बताया .

Loading...