हाल ही में देश के पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने देश भर में मुस्लिमों के खिलाफ हो रही हिंसा के चलते कहा था कि देश के मुसलमानों में आज असुरक्षा और घबराहट का माहौल है.

हालांकि इस बयान के उलट रविवार को जंतर-मंतर सहित देश के 800 शहरों में जमीअत उलेमा हिंद के तत्वधान में अमन मार्च निकाला गया. जिसका मकसद ये सन्देश देना था की देश में सभी धर्मों के लोग में एकता बनी रहनी चाहिए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अमन मार्च को संबोधित करते हुए जमीअत उलेमा हिंद के अध्यक्ष मौलाना कारी सैयद मोहम्मद उस्मान मंसूर पूरी ने कहा कि भारत में सदियों से विभिन्न सभ्यताओं और धर्मो के लोग रहते हैं. वर्तमान माहौल काफी संवेदनशील है. जिस पर सभी को संयम रखना होगा.

उन्होंने कहा कि ये सभी के लिए यह परीक्षा का समय है.जो व्यक्ति अमन एवं शाति को भंग करने की कोशिश करता है वह एक समुदाय का नहीं बल्कि देश का दुश्मन है.

साथ ही कहा कि जमिअत उलमा यह स्पष्ट कर देना चाहती है कि अमन शांति के लिए हमारा यह आंदोलन सिर्फ मुसलमानों के लिए नहीं बल्कि हिन्दुस्तान के बचाने और बनाने के लिए है.

Loading...