akb

कथित गौरक्षा के नाम पर राजस्थान के अलवर में पीट-पीट कर मारे गए मुस्लिम गौपालक अकबर उर्फ रकबर के हत्यारों की की तुलना विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने स्वतंत्रता सेनानियों से की है। वीएचपी ने आरपियों के समर्थन में धर्म सभा बुला कर तीनों को भगत सिंह, चंद्रशेखर और राजगुरु बताया। धर्मसभा में आरोपियों में से एक नवल किशोर भी मौजूद था।

VHP की धर्मसभा ऐसे समय मे आयोजित हुए जब पीड़ित के पिता सुलेमान और गवाह असलम ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में SIT से कराने की मांग की है। साथ ही याचिका में मामले का ट्रायल और जांच दोनों ही राजस्थान से बाहर कराने की मांग की।

याचिका में अलवर के बीजेपी विधायक ज्ञान देव आहूजा को भी पक्षकार बनाया गया है। आरोप लगाया गया है कि विधायक के इशारे पर हत्या के आरोपियों को बचाने की कोशिश की जा रही है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट जल्द सुनवाई को तैयार हो गया है। इस मामले की सुनवाई अगले हफ़्ते सुनवाई करेगा।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीं दूसरी और VHP ने धर्मसभा में आरोपियों की तुलना स्वतंत्रता सेनानियों से करते हुए कहा कि आरोपियों किसी भी कीमत पर छुड़ाया जाएगा। इसके अलावा जहां से भी गाय की खाल बरामद होगी वहां अब से समाधि बनाकर मेला लगवाया जाएगा।

बता दें कि इस मामले में अलवर पुलिस ने शुक्रवार को रामगढ़ की सिविल कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की। जिसमे तीन आरोपियों पर आईपीसी की धारा 302, 341, 323, 34 के तहत आरोप लगाए गए।

Loading...