गुजरात के कच्छ में बीजेपी कार्यकर्ताओं की हवस का शिकार बनी सामूहिक बलात्कार की पीड़िता ने 25 जनवरी को दर्ज कराई एफआईआर में चौकाने वाला खुलासा किया हैं. पीड़िता का आरोप हैं कि बीजेपी नेताओं ने 35 महिलाओं को वेश्यावृति के दलदल में धकेला. साथ ही ये लडकियां बीजेपी की सभाओं में सप्लाई की जाती थी.

नलिया इलाके की रहने वाली महिला ने एफआईआर में कहा कि वह अगस्‍त 2015 में पीडि़ता नौकरी की तलाश में नलिया आई थी. यहां पर उसकी पहचान भाजपा नेता शांतिलाल सोलंकी से हुई. सोलंकी ने अपनी गैस एजेंसी में लड़की को क्‍लर्क के रूप में नौकरी दे दी. लेकिन जब वह एडवांस सैलेरी लेने गई तो कथित तौर पर उसकी कोल्‍ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिला दिया गया और सोलंकी सहित तीन लोगों ने उससे साथ बारी बारी से बलात्कार किया. इतना ही नहीं उन दरिंदों ने महिला की वीडियो क्लीप भी बनाई. उसके बाद वे उसे लंबे समय से ब्‍लैकमेल कर रहे थे. महिला को वीडियो क्लीप के जरिये ब्लैकमेल करते हुए अलग अलग जगहों पर बुलाकर उसके साथ बलात्कार किया.  एक बार में कई कई लोगों ने उसे अपनी हवस का शिकार बनाया.

पीडि़ता ने आरोप लगाया कि आरोपी इलाके में सेक्‍स रैकेट भी चलाते है. उन्‍होंने नौकरी का लालच देकर कई महिलाओं को इसमें धकेला है. पीडि़त ने कहा कि उसके साथ बलात्कार करते वक्त आरोपियों ने धमकी दी थी कि उनका पुरा नेटवर्क है. जिसमें 50 से 60 महिलाओं के इसी तरह के वीडियो क्लिप बनाए गए हैं. और उन महिलाओं के साथ भी ऐसा ही किया जाता है.  इसके अलावा पीडिता ने कहा कि इन महिलाओं को भाजपा की सभाओं में भी भेजा जाता था.

पुलिस के अनुसार, पीड़िता ने हलफनामे में 9 आरोपियों के नाम दिए हैं तथा कहा कि उसको नौकरी का प्रलोभन दिया गया था. पीड़िता ने कहा कि बाद में आरोपियों ने उसके साथ बलात्कार किया, और फिल्म बना ली. जिसके आधार पर उसका बार-बार यौन शोषण किया गया. साथ ही उसे भाजपा का एक सक्रिय सदस्य बनाने का वादा किया गया. तथा भाजपा के प्रशिक्षण सत्र के लिए एक पहचान कार्ड भी दिया गया.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें