allah

उत्तरप्रदेश की योगी सरकार ने इलाहाबाद का नाम बदलकर ‘प्रयाग’ करने की तैयारी कर ली है। इस सबंध में योगी आदित्यनाथ के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कुंभ से पहले इलाहाबाद का नाम बदलने को लेकर राज्यपाल को पत्र लिखा है।

सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि महाराष्ट्र से पूर्व सांसद और उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक बम्बई का नाम बदलकर मुंबई किए जाने में काफी मदद की थी। मैंने उनको पत्र लिखकर लंबे अर्से से इलाहाबाद का नाम ‘प्रयाग’ किए जाने की मांग की है।

Loading...

इससे पहले उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य ने भी इलाहाबाद का नाम बदलकर ‘प्रयाग’ करने के सम्बन्ध में बयान दिया था। केशव ने कहा था कि इलाहाबाद की पहचान यहां तीन नदियों के संगम की वजह से है, इसलिए इसका नाम ‘प्रयागराज’ होना चाहिए। उन्होंने कुंभ आयोजन से पहले इस काम को पूरा करने का आश्वासन भी दिया था।

yogi adityanath l pti

नाम बदलने की कवायद में ही सिद्धार्थनाथ सिंह का यह पत्र आगे का कदम माना जा  रहा है। ताकि योगी सरकार इस संबंध में जल्द ही आदेश पारित कर ‘इलाहाबाद’ का नाम बदलकर ‘प्रयागराज’ कर दे।
16वीं शताब्दी के समय में मुगल बादशाह अकबर के जमाने में दीन-ए-इलाही धर्म की शुरुआत हुई थी। इसी के बाद यह शहर इलाहाबाद के नाम से मशहूर हुआ। बता दें कि बीते दिनों मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन रखा गया है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें