अलीगढ़ 2 जुलाईः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के मल्लापुरम केन्द्र में आन लाइन युवा संसद प्रतियोगिता का आयेजन किया गया जिसमें कोविड-19 से उत्पन्न समस्याओं, उनके निदान तथा कोविड के बाद की परिस्थितियों पर विचार विमर्श किया गया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अमुवि विधि संकाय के अधिष्ठाता प्रोफेसर शकील समदानी ने अमुवि के पूर्व छात्र तथा प्रख्यात कानूनविद् एवं कई संस्थाओं के निर्माता प्रोफेसर एन0आर0 माधवा मैनन को भावभीनी श्रद्धाजंलि अर्पित करते हुए कहा कि अमुवि को उन पर गर्व है तथा उन्होंने ही पंचवर्षीय बी.ए.एल.एल.बी. पाठ्यक्रम का विचार प्रस्तुत किया था। इसके अतिरिक्त उन्होंने कई संस्थाओं की स्थापना में मुख्य भूमिका निभाई तथा कानून की पढ़ाई के क्षेत्र में उन्हें भारतीय कानून विद्या का पितामह कहा जाता है।

मल्लापुरम केन्द्र के निदेशक डा0 फैसल के0पी0 ने स्वागत भाषण प्रस्तुत किया जब कि एम0यू0एन0 क्लब की सचिव कुलसुम हसन ने अतिथियों का स्वागत किया। मल्लापुरम केन्द्र लॉ सोसाइटी के कन्वीनर डा0 शाहनवाज ए0 मलिक ने उद्घाटन सत्र का संचालन किया जब कि अध्यक्ष श्री गालिब नश्तर ने आभार व्यक्त किया। अकरम खान तथा अरीबा अब्बास ने मुख्य वक्ता तथा उप वक्ता के रूप में कार्यक्रम को संबोधित किया।

प्रोफेसर समदानी ने कहा कि इस युवा संसद के आयेजन से छात्रों को कई राष्ट्रीय महत्व के विषयों, राजनीतिक पृष्ठभूमि तथा सरकार द्वारा उठाये गये कदमों के विधिक परिप्रेक्ष्य को समझने का अवसर प्राप्त होगा।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन