akram

akram

उत्तर प्रदेश के कासगंज में भगवा ब्रिगेड का उत्पात चरम पर पहुँच चूका है. अल्प्संखयक मुस्लिम समुदाय को सरेआम निशाना बनाया जा रहा है.

ताजा मामले में लखीमपुर खीरी से अलीगढ़ आ रहे अकरम पर भगवा ब्रिगेड ने दाढ़ी देखकर जानलेवा हमला किया. इस दौरान उसे बेदर्दी के साथ पीटा गया. जिसमे उसकी एक आँख की रौशनी भी चली गई. अकरम को अलीगढ़ मुस्लिम यूनीवर्सिटी के जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है. जहां उनकी हालत चिंताजनक बनी हुई है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अकरम की नौकरानी अरजा ने बताया कि वह हमले के समय अकरम के साथ कार में थी. उसने देखा कि अकरम के चेहरे पर नजर पड़ते ही भीड़ उसकी तरफ आई. अरजा की मानें तो भीड़ में आए लोगों के हाथों में हथियार भी थे. वह डरकर गाड़ी के पीछे जाकर सीट के नीचे छिप गई. भीड़ के लोगों ने अकरम की दाढ़ी खींचनी शुरू कर दी.

अरजा ने बताया कि वे लोग जाम में फंसे थे. काफी देर तक जाम में फंसे रहने के बाद अकरम गाड़ी से उतरे और यह देखने गए कि जाम क्यों लगा है? गाड़ी से बाहर उतरकर वह एक काले रंग की टाटा सफारी के पास पहुंचे. अकरम किसी से कुछ पूछ पाते, इससे पहले ही भीड़ ने उन पर हमला कर दिया.

जेएन मेडिकल कॉलेज के चिकित्सा अधीक्षक प्रफेसर हरीश मंजूर खान ने बताया कि अकरम की आंखों की सर्जरी की गई है, लेकिन उनकी दाईं आंख इतनी बुरी तरह से चोटिल हुई थी कि उस आंख में रोशनी अब नहीं आ सकती.