उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मिले बहुमत के बाद बसपा प्रमुख मायवती ने पहले ही ईवीएम में गड़बड़ी के आरोप लगा दिए हैं. जिसका समर्थन समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने भी किया हैं. ऐसे में अब समाजवादी पार्टी भी इस मामलें को लेकर गंभीर हो गई हैं, और क़ानूनी कदम उठाने पर विचार कर रही हैं.

दैनिक भास्कर ने अपनी एक रिपोर्ट में दावा किया हैं कि पार्टी ने बैलट पेपर वोट के रिव्यू के आधार पर कोर्ट जाने का फैसला किया हैं. दरअसल बैलट पेपर से एक ट्रेंड मालूम होता है, जिसमें सपा को 70% से ज्यादा वोट मिल रहे हैं. ऐसे में सपा ने भी हार के लिए ईवीएम में गड़बड़ी को जिम्मेदार बताया हैं.

सपा से जुड़े सूत्रों ने कहा, बीजेपी को बड़े पैमाने पर 325 सीटें मिली हैं, तो इसमें ईवीएम में गड़बड़ी ही जिम्मेदार है. बैलट पेपर से एक ट्रेंड मालूम होता है, जिसमें सपा को 70% से ज्यादा वोट मिल रहे हैं. हरदोई की सवायदपुर में बैलट पेपर से मिले वोटों में सपा को 381, बसपा को 260 और बीजेपी के वोटों की संख्या 182 है.
हरदोई प्राॅपर में सपा को 858, बसपा को 715 और बीजेपी को 370 वोट मिले हैं, बिलग्राम में भी यही स्थिति है. वहीं, सांडी में कांग्रेस को 400, बीएसपी को 243 और बीजेपी को 150 वोट मिले हैं. अब इन बैलट पेपर वोट्स को गिनें तो पूरी तरह से सपा पूर्ण बहुमत से भी आगे जा रही है. अभी तो ये कुछ ही सीटें हैं, हमने पूरे प्रदेश से बैलट पेपर वोटों को मंगाया है. हम उसका रिव्यू करने के बाद पूरे सबूतों और रिपोर्ट के साथ सुप्रीम कोर्ट जाएंगे. ईवीएम में हुई गड़बड़ी की जांच सुप्रीम कोर्ट के जज की अगुआई में हो, इसके लिए अपनी बात कोर्ट में रखेंगे.
मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?