tej pratap yadav 4

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के सुप्रीमो लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव का तलाक का मुद्दा अब सार्वजनिक हो चुका है। हालांकि अब भी परिवार तेजप्रताप को समझाने-बुझाने में लगा है लेकिन तेजप्रताप मानने के मूड में नहीं है।

पिता लालू प्रसाद से रांची के रिम्स अस्पताल में मिलने के लिए गए तेज प्रताप यादव रविवार (4 नवंबर, 2018) को पटना लौट आए। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, ऐश्वर्या अपने पिता चंद्रिका प्रसाद राय को सारण लोकसभा सीट से टिकट दिलाना चाहती थीं, जिसके लिए वह लगातार तेज प्रताप पर दबाव बना रही थीं।

पटना फैमिली कोर्ट में दायर की गई अर्जी के मुताबिक, तेज प्रताप और उनकी पत्नी के बीच शादी के एक महीने बाद ही मारपीट तक की ​नौबत आ गई थी। ये सारा घटनाक्रम घर के मुखिया लालू प्रसाद की आंखों के सामने हुआ था। तेजप्रताप ने अपनी अर्जी में अपनी पत्नी पर ससुराल वालों को उपकृत करने के लिए दबाव बनाने का भी आरोप लगाया है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

तेजप्रताप ने अपनी अर्जी में लिखा है कि ऐश्वर्या राय चाहती थीं कि उनके पिता चंद्रिका राय को छपरा से लोकसभा का टिकट मिले। अर्जी के मुताबिक, ऐश्वर्या उनसे कहती थीं कि अगर छपरा से तुम उन्हें टिकट भी नहीं दिलवा सकते तो तुमसे शादी करने का फायदा क्या है?

बता दें पटना के फैमिली कोर्ट में तेज ने गुरुवार को तलाक की अर्जी परिवार  दायर की थी। इस वाद पर अब अगली सुनवाई 29 नवंबर को होनी है। पिता लालू प्रसाद की बात न मानने के सवाल पर तेज ने कहा, ‘पापा मेरी बात मान रहे हैं, जो हम उनकी बातें मान लें। मेरे मम्मी-पापा, भाई-बहन सभी ऐश्वर्या का साथ दे रहे हैं।’

Loading...