index (3)

आगरा. जमीन खरीद में भ्रष्टाचार के आरोप में आगरा के डीएम रहे चुके आईएएस जुहेर बिन सगीर पर फतेहाबाद थाने में केस दर्ज हुआ है। यह केस बरेली की विजिलेंस टीम ने दर्ज कराया है। वर्तमान में आईएएस जुहेर कृषि कृषि विभाग लखनऊ में तैनात हैं।

विजिलेंस की खुली जांच में पाया गया है कि उन्होंने आगरा के डीएम पद पर तैनाती के दौरान अपनी मौसेरी बहन खालिदा रहमान को 20 लाख का अनुचित लाभ पहुंचाया। उस समय प्रदेश में सपा की सरकार थी। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे बनाने के लिए योजना बनाई जा रही थी।

थाना फतेहाबाद इंस्पेक्टर ब्रजेश कुमार सिंह ने बताया कि मामला सतर्कता अधिकारी प्रमोद कुमार शर्मा द्वारा भ्रष्टाचार अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत दर्ज कराया गया है। प्रकरण के अनुसार सगीर के खिलाफ आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के लिए अपनी मौसेरी बहन के साथ मिलकर भ्रष्टाचार करने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

आगरा में वर्ष 2013-14 में आईएएस जुहैर बिन सगीर डीएम रहे थे और उनके द्वारा आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के लिए जमीन अधिग्रहण की अधिसूचना जारी होनी थी। प्रकरण के मुताबिक उन्होंने कथित रूप से अधिसूचना जारी होने से पहले अपनी मौसेरी बहन खालिदा रहमान के नाम से पद का दुरुपयोग करते हुए फतेहाबाद के गांव तिबाहा में 695 हेक्टेयर और गांव स्वारा में 3460 हेक्टेयर जमीन खरीदवा दी।

इस जमीन का भूमि अधिग्रहण हो गया। इससे उनकी बहन खालिदा को 20 लाख 45 हजार रुपये का लाभ हुआ। इसी तरह से मुरादाबाद में भी सगीर की मौसेरी बहन खालिदा के नाम से जमीन खरीदी गयी। इससे पहले आईएएस के खिलाफ बरेली में भी केस दर्ज हो चुका है। वहां भी जमीन खरीद फरोख्त को लेकर मामला सामने आया था।

Loading...