आगरा के सदर बाजार और फतेहपुर सीकरी थानों में शनिवार को भगवा संगठनों की और से मचाई गई हिंसा के मामलें में पुलिस ने 14 लोगों को रविवार को गिरफ्तार किया है. वहीं, 200 से ज्यादा लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया हैं. ये सभी संघ परिवार के कार्यकर्ता हैं.

दरअसल इन लोगों ने डकेती और मारपीट के आरोप में बंद अपने पांच साथियों की रिहाई के लिए पुलिस थानों पर हमला किया था. इस दौरान इन लोगों ने पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट भी की और उनके हथियार भी लुट लिए थे. इस बारें में पुलिस उपमहानिरीक्षक महेश मिश्रा ने बताया, रविवार को हुई हिंसा के सिलसिले में हमने 14 लोगों को गिरफ्तार किया है. उन्होंने बताया कि दरोगा से लूटा गया सर्विस रिवाल्वर भी बरामद हो गया है.

आगरा के एसएसपी प्रीतिंदर सिंह ने कहा कि बवाल करने वालों पर रिकार्डिंग के आधार पर केस दर्ज किया गया है। उपद्रवियों को किसी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा. जबकि सीकरी क्षेत्र के विधायक उदयभान सिंह ने इस घटना के लिए पुलिस को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि यदि पुलिस चाहती तो इतना बड़ा बवाल ही नहीं होता. पुलिस ने मारपीट कर कानून की धज्जी उड़ाई है. उनका दावा है कि उपद्रवी भीड़ में कोई भाजपा कार्यकर्ता शामिल नहीं था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

रविवार को भी मामले की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने सुबह से ही सीकरी क्षेत्र में आधा दर्जन थानों का फोर्स के साथ पीएसी को तैनात कर दिया है जो कि सुबह से ही लगातार पूरे सीकरी क्षेत्र में फ्लैग मार्र्च करती रही है.

Loading...