solanki

छठी बार गुजरात में सरकार बनाने वाली बीजेपी की मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. पार्टी के कद्दावर पाटीदार नेता नितिन पटेल को मनाने के बाद अब कोली समुदाय के ताकतवर नेता पुरुषोत्तम सोलंकी ने बगावत कर दी है.

सोलंकी ने बीजेपी नेतृत्व को आंखे दिखाते हुए कैबिनेट मंत्री का दर्जा देने की मांग की है. पुरुषोत्तम सोलंकी मुख्यमंत्री विजय रूपाणी से मिलने पहुंचे और उन्होंने कहा कि उनकी जाति एक बड़ी वोट बैंक रखती है, तो उन्‍हें अच्छा मंत्रालय मिलना ही चाहिए.

सोलंकी राज्य के मत्स्य उद्योग मंत्री है. वे पांच बार से विधायक हैं. सोलंकी ने कहा है कि उन्हें मत्स्य विभाग दिया गया है। इस विभाग के जरिए वो समाज के लोगों का कल्याण नहीं कर सकते हैं. उनका विभाग मूलत: कुछ तटीय जिलों में ही कारगर है, जबकि उनके समाज के लोग उनसे कल्याण की अपेक्षा रखते हैं.

सोलंकी ने कहा है कि अगर उन्हें कोई और बड़ा विभाग नहीं मिलता है तो उनके समाज के लोग उनसे नाराज हो सकते हैं. सोलंकी के नाराज होने की खबरें आने के बाद आननफानन में सरकार के संकटमोचक माने जाने वाले मंत्री भुपेन्द्रसिंह चुडासमा उनसे मिलने पहुंच गए.

ध्यान रहे इससे पहले पाटीदार नेता और डिप्‍टी सीएम नितिन पटेल वित्त, शहरी विकास और पेट्रोकेमिकल विभाग छिन जाने से नाराज चल रहे थे. लेकिन पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह ने उनको फोन किया और उनको वित्त विभाग देकर मना लिया गया. इससे पहले वित्त विभाग सौरभ पटेल को दिया गया था.