Friday, December 3, 2021

कोरोना संकट के बीच असम में फैला अफ्रीकी स्वाइन फ्लू, सीएम ने दिए 12,000 सुअरों को मारने का आदेश

- Advertisement -

देश पहले ही बढ़ती कोरोना महामारी से त्रस्त है तो दूसरी और अफ्रीकी स्वाइन फ्लू एक बड़ी मुसीबत बनकर उभर रहा है। दरअसल असम में अफ्रीकी स्वाइन फ्लू का प्रकोप तेजी से फ़ेल रहा है। जिसके चलते मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल (CM Sarbananda Sonowal) नेकरीब 12,000 सुअरों (pigs) को मारने का आदेश जारी किया है।

पशु पालन एवं पशु चिकित्सा विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि वायरस के कारण अब तक राज्य के 14 जिलों में 18,000 सुअरों की जान जा चुकी है। अधिकारी ने बताया कि सुअरों को मारने का काम 14 प्रभावित जिलों में रोग से बुरी तरह प्रभावित 30 क्षेत्रों के एक किलोमीटर के दायरे में किया जाएगा और यह काम तुरंत शुरू किया जाएगा।

असम में इसका पहला मामला मई में सामने आया था। इसके बाद असम सरकार ने 306 गांवों में 2,500 से अधिक सूअर मारने के आदेश दिए थे। हालांकि सुअरों को मारने के इस अभियान से किसानों को होने वाले नुकसान की पर्याप्त रूप से क्षतिपूर्ति की जाएगी।

मुआवजे के बारे में पूछे जाने पर अधिकारी ने कहा कि 12,000 सुअरों के मालिकों के बैंक खातों में धन जमा कराया जाएगा जबकि पहले ही मर चुके 18,000 सुअरों के मालिकों को आर्थिक सहायता देने के लिए सरकार को एक प्रस्ताव भेजा गया है।

असम के पशुपालन और पशु चिकित्सा मंत्री अतुल बोरा ने कहा कि बताया कि इस बीमारी का कोविड-19 से कोई लेना-देना नहीं है। बोरा ने कहा, ‘राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशु रोग संस्थान (एनआईएचएसएडी) भोपाल ने पुष्टि की है कि यह अफ्रीकी स्वाइन फ्लू (एएसएफ) है।

अफ्रीकी स्वाइन फ्लू के संकेत और लक्षण (signs and symptoms of ASF)

अफ्रीकी स्वाइन फ्लू के संकेत और लक्षणों में तेज बुखार, भूख में कमी, कमजोरी, त्वचा पर लाल धब्बे या घाव बनना, दस्त, उल्टी, खांसी और सांस लेने मे तकलीफ होना शामिल हैं। ऐसे संकेत दिखने पर आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए। इनमें से कुछ लक्षण कोरोना वायरस, सामान्य फ्लू की तरह है। इसलिए आपको और ज्यादा सतर्क होने की जरूरत है।

क्या अफ्रीकी स्वाइन फ्लू इंसानों में भी फैलता है?

एएसएफ मनुष्यों को प्रभावित नहीं करता है और इसलिए अमेरिकी कृषि विभाग इसे एक सार्वजनिक स्वास्थ्य खतरा नहीं मानता है। यह केवल सूअरों को प्रभावित करने वाला एक वायरल रोग है। सूअर के मांस के संपर्क के माध्यम से एएसएफ को मनुष्यों तक नहीं पहुंचाया जा सकता है।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles