NRC को लेकर असम के 22 जिलों में ABVP और हिंदू जागरण मंच का प्रदर्शन

6:51 pm Published by:-Hindi News

असम में राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस) में हिन्दू समुदाय के लोगों के नाम शामिल न होने की शंका के चलते राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़े संगठनों ने विरोध-प्रदर्शन का एक बड़ा अभियान छेड़ दिया है।

राज्य के करीब 22 जिलों में ABVP और हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे है। बता दें कि राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस) जारी किए जाने में केवल 11 दिन ही बचे हैं।

सोमवार को एबीपीवी के कार्यकर्ताओं ने एनआरसी कोऑर्डिनेटर के दफ्तर के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने इस दौरान मांग की कि अंतिम लिस्ट जारी किए जाने से पहले हर आवेदन को दोबारा वेरिफाइ (सत्यापित) किया जाए।

assam nrc

हिंदू जागरण मंच के अध्यक्ष मृणाल कुमार लस्कर ने कहा, ‘जो एनआरसी हमें 31 अगस्त को मिलने वाला है, उसमें कई वास्तविक भारतीय नागरिकों को जगह नहीं मिलेगी। अगर यह अपने वर्तमान स्वरूप में प्रकाशित होता है तो हम इसके खिलाफ अभियान छेड़ेंगे। चूंकि डेटा के दुरुपयोग के मामले भी हैं लिहाजा दोबारा सत्यापन जरूरी है।’

बीजेपी विधायक शिलादित्य देव का कहना है, ‘बंटवारे के शिकार बहुत से हिंदू परिवार और उनके वंशज एनआरसी में जगह नहीं बना सके हैं। अगर फाइनल एनआरसी में उन्हें नहीं शामिल किया जाता है तो इससे असम की पहचान और संस्कृति पर गंभीर असर पड़ेगा। हम दूसरा जम्मू-कश्मीर नहीं चाहते, इसलिए हम दोबारा सत्यापन की मांग कर रहे हैं।’

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें