लखनऊ: प्रदेश में दलितों पर अत्याचार थमने का नाम नहीं ले रहा है. योगी सरकार के गठन के साथ ही दलितों पर हिंसा के मामलें एक के बाद एक सामने आ रहे है. जिनमे दलितों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ रहा है.

ताजा मामला खेतलपुर भंसोली गांव का है. जहां एक गर्भवती दलित महिला को सिर्फ इसलिए पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया गया कि उसकी कूड़े की टोकरी को ऊँची जाति महिला के हाथ से गलती से टकरा गई.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, खेतपुर भंसोली निवासी दिलीप की गर्भवती पत्नी सावित्री बीती 20 अक्टूबर की शाम कूड़ा डालने घर के बाहर निकली थी. इसी दौरान उंची जाति की महिला कहीं जा रही थी और अचानक से सावित्री की कूड़े की टोकरी महिला के हाथ से टकरा गई.

इस छोटी सी बात को लेकर महिला और उसके पुत्र ने सावित्री की जमकर पिटाई की. सावित्री को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया. अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

हात कोतवाली पुलिस ने आरोपी अंजू व उसके बेटे रोहित के खिलाफ गैर इरादतन हत्या, एससीएसटी एक्ट व अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज कर ली है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें