रामपुर:समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता और यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे आजम खान के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। आजम के साथ ही उनके विधायक बेटे अब्दुल्ला आजम खान और आजम की पत्नी और सांसद ताजीन फातिमा के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज की गई है।

जानकारी के मुताबिक, दो बर्थ सर्टिफिकेट रखने के आरोप के चलते अब्दुल्ला आजम के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। इन तीनों के खिलाफ रामपुर के थाना गंज में आईपीसी की धारा 193, 420, 467, 468, 471 के तहत केस दर्ज किया गया है।

Loading...

पुलिस ने यह केस भाजपा लघु उद्योग प्रकोष्ठ के क्षेत्रीय संयोजक आकाश सक्सेना की तहरीर पर की है। उन्होंने विधायक अब्दुल्ला आजम के दो जन्म प्रमाणपत्र बनवाने के आरोप लगाया था। 
आकाश सक्सेना ने 17 दिसंबर को लखनऊ में प्रमुख सचिव गृह को ज्ञापन सौंपकर आरोप लगाया था कि विधायक अब्दुल्ला आजम के जन्म के दो-दो प्रमाणपत्र बने हुए हैं।

बताया कि, विधायक अब्दुल्ला आजम का एक जन्म प्रमाणपत्र 28 जून 2012 को रामपुर नगरपालिका परिषद से जारी किया गया है। ये प्रमाण पत्र आजम खां और डॉक्टर तजीन फात्मा के शपथ पत्र के आधार पर जारी किया गया है। जिसमें अब्दुल्ला का जन्म स्थान रामपुर दिखाया गया है।

जबकि दूसरा प्रमाण पत्र 21 जनवरी 2015 को लखनऊ नगर निगम से बना है, जो क्वीन मेरी अस्पताल के डुप्लीकेट जन्म प्रमाणपत्र के आधार पर जारी किया गया है। इसमें अब्दुल्ला का जन्म स्थान लखनऊ दिखाया गया है। 

आकाश सक्सेना का आरोप है कि रामपुर नगरपालिका से जारी जन्म प्रमाणपत्र का पासपोर्ट में गलत इस्तेमाल कर विदेश यात्राएं की गईं, जबकि लखनऊ नगर निगम से जारी जन्म प्रमाणपत्र का सरकारी दस्तावेजों और जौहर यूनिवर्सिटी की विभिन्न मान्यताओं में उपयोग में किया गया है।

प्रमुख सचिव गृह ने इस मामले की जांच का आदेश एसपी रामपुर को दिया था। एसपी की जांच पूरी होने के बाद गंज थाने पूर्व मंत्री आजम खां, राज्यसभा सदस्य डॉ. तजीन फात्मा और विधायक अब्दुल्ला आजम के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। 

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें