उत्‍तराखंड की राजधानी देहरदून में स्थित एमकेपी पीजी कॉलेज के छात्रसंघ चुनाव में एनएसयूआइ ने एबीवीपी को करारी शिकस्त देकर बीजेपी के मिशन 2019 को बड़ा झटका दिया है.

हालांकि करारी शिकस्त खाई एबीवीपी ने दोबारा मतगणना की जिद पकड़ ली और कॉलेज में जमकर हंगामा किया. भाजपा विधायक खजानदास एवं महानगर अध्यक्ष उमेश अग्रवाल समेत कईं नेताओं ने कॉलेज में डेरा डाल लिया. सत्तापक्ष के दबाव में प्रशासन ने भी पीएसी की मौजूदगी में दोबारा मतगणना शुरू करा दी, जबकि एनएसयूआइ विरोध करती रही. हालांकि, परिणाम दोबारा एनएसयूआइ की उम्मीदवार दीपाली ठाकुर के पक्ष में आया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस जीत से एनएसयूआई के साथ ही कांग्रेस में उत्साह है. प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने भी नई टीम को गर्मजोशी से स्वागत किया. उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने एमकेपी के नवनिर्वाचित छात्रसंघ पदाधिकारियों का प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में माला पहनाकर गर्मजोशी से स्वागत किया.

प्रीतम सिंह ने पूरे पैनल की जीत पर बधाई दी और कहा कि छात्र हितों को लेकर अपनी लड़ाई को ताकत के साथ आगे रखें. उन्होंने कहा कि कॉलेज कैंपस में विघटनकारी शक्तियां युवाओं के बीच टकराव पैदा कर रही हैं, इसका एनएसयूआई को एकजुटता के साथ जवाब देना होगा.

उन्होंने कहा कि सभी कॉलेजों में चुनाव बाद जीत दर्ज करने वाले एनएसयूआई कार्यकर्ताओं का देहरादून में सम्मान किया जाएगा

Loading...