अयोध्या विवाद का फैसला अनकरीब ही है। ऐसे में राज्य सरकारों ने आपात स्थिति से निपटने के लिए अपनी कमर कस ली है। यूपी के अम्बेडकरनगर में आठ स्कूलों को अस्थाई जेल में बदल दिया गया है।

दरअसल अम्बेडकरनगर जिला अयोध्या और फ़ैजाबाद से सटा हुआ है। लिहाजा अगर फैसले के बाद कोई ऐसी स्थिति बनती है तो लोगों को इन जेलों में रखा जाएगा। अकबरपुर थानाक्षेत्र में 3 अस्थाई जेल, टाण्डा, जलालपुर, जैतपुर, भीटी और आलापुर थानाक्षेत्र में एक-एक अस्थाई जेल बनाया गया है।

दूसरी और कानपुर में पहली बार एयर सर्विलांस से निगरानी की जाएगी। बुधवार को परेड स्थित क्रिस्टल पार्किंग की बिल्डिंग से दो किमी की ऊंचाई पर ‘एयरो स्टैग’ लांच किया गया। इससे 13 किलोमीटर की परिधि में होने वाली गतिविधियों पर नजर रखी जाएगी।

एयरो स्टैग में दो एचडी कैमरे लगे हैं, जो सीधे पुलिस कंट्रोल रूम से जुड़े हैं। एक क्लिक करते ही किसी भी समय पर किसी भी जगह का लाइव वीडियो कंट्रोल रूम में देखा जा सकेगा। कहीं आपात स्थिति होने पर  ऑटोमैटिक सिग्नल कंट्रोल रूम को मिलेंगे।

एसएसपी अनंत देव ने बताया कि शहर में धारा 144 भी लागू कर दी गई है। एयरो स्टैग से यदि कहीं पर कुछ संदिग्ध गतिविधियां दिखाई देंगी, तो वहां की तस्वीरें व वीडियो सुरक्षित कर आला अधिकारियों को जानकारी दी जाएगी, जिससे त्वरित कार्रवाई की जा सके।

वहीं मध्यप्रदेश में पुलिस मुख्यालय ने एडवाइजरी के बाद सख्त दिशा निर्देश जिला पुलिस बल को दिए हैं। इस फैसले के मद्देनजर प्रदेश की सुरक्षा के लिए एक लाख पुलिस जवानों की तैनाती की गई। इसके साथ ही अफवाह फैलाने वाले लोगों पर नजर रखने और उनके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए हर जिला मुख्यालय पर एक साइबर सेल बनाई गई है।

अयोध्या के फैसले तक सभी पुलिसकर्मियों को छुट्टी रद्द कर दी है। प्रदेश में धारा 144 लागू है। संवेदनशील और अति संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त फोर्स की तैनाती की गई है। जिलों में गठित साइबर सेल सोशल मीडिया पर नजर रखे हुए है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन