bad

राजस्थान के बाड़मेर जिले में राजपुरोहित समुदाय ने सामाजिक बहिष्कार कर दिया। दरअसल इन परिवारों को एससी-एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज होने के कारण बहिष्कृत किया गया।

यह घटना बाड़मेर के कालुदी गांव की है। गांव के रहने वाले दिनेश उर्फ दाना राम मेघवाल ने बीते 16 अगस्त को बलतोरा पुलिस थाने में एक एफआईआर दर्ज करायी थी। जिसमे गांव के राजपुरोहित समुदाय द्वारा गांव के 70 दलित परिवारों का बहिष्कार करने की शिकायत की गई। इसी से नाराज होकर राजपुरोहितों ने दलितों के 70 परिवारों को गांव से बहिष्कृत करने का ऐलान कर दिया।

मेघवाल की शिकायत पर बलतोरा पुलिस ने राजपुरोहित समुदाय के 17 लोगों के खिलाफ एससी/एसटी एक्ट की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया और जांच के आदेश दिए गए हैं। इस मामले को देखते हुए गांव में पुलिस बल तैनात कर दी गई है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

bhagwaa 650 091115040641

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार, गांव से बहिष्कार के बाद दलित परिवारों को सार्वजनिक कुओं का इस्तेमाल नहीं करने दिया जा रहा है। साथ ही दलित परिवारों के दुकानों से सामान लेने और अपने बच्चों को स्कूल भेजने पर भी पाबंदी लगा दी गई है।

बाड़मेर के एसपी मनीष अग्रवाल ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। फिलहाल गांव में पुलिस तैनात कर दी गई है।उल्लेखनीय है कि बाड़मेर के जिला प्रमुख का घर इसी गांव में है।

Loading...