हैदराबाद: शुक्रवार को मुस्लिम आरक्षण का विरोध कर रहे भाजपा के 5 विधायकों को निलंबित कर दिया गया.  तेलंगाना विधानसभा ने इन सभी बीजेपी विधायकों को दो दिनों के लिए सदन से निलंबित किया हैं. दरअसल विधायकों पर यह कार्रवाई विधानसभा की कार्यवाही में बाधा डालने पर की गई.

बीजेपी तेलंगाना सरकार के मुस्लिम समुदाय को नौकरी और शिक्षा में मिले आरक्षण को चार फीसदी से बढ़ाकर बारह फ़ीसदी करने के प्रस्ताव का विरोध कर रही हैं. हालाँकि तेलंगाना सरकार ने मुस्लिमों को यह आरक्षण देने का फैसला धार्मिक आधार पर नहीं बल्कि उनके सामाजिक, आर्थिक और शैक्षणिक पिछड़ेपन के आधार पर किया है.

याद रहें कि मुख्यमंत्री राव ने विधानसभा में बजट सत्र के दौरान एक बिल पेश किये जाने का वादा किया था. जिसमे मुस्लिमों में पिछड़े वर्गों के लिए 12 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान होगा. इसी के साथ राज्य सरकार केंद्र पर दबाव डालेगी कि इस कानून को संविधान की नवीं सूची में शामिल किया जाए.

राव के अनुसार,  तेलंगाना मुसलमानों को 12 प्रतिशत आरक्षण देने के लिए तमिल नायडू का नमूने का पालन किया जाएगा. उन्होंने कहा की आरक्षण धर्म के आधार पर न देकर सामाजिक-आर्थिक और पिछड़ेपन को देखते हुए दिया जाएगा. राव ने बताया कि मुसलमानो की आबादी के अनुसार लगभग 50 प्रतिशत से भी ऊपर लोगो को आरक्षण की ज़रूरत है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?