jign

jign

दलित कार्यकर्ता भानु वानकर की मौत के बाद अहमदाबाद में हो रहे विरोध प्रदर्शन में शामिल होने पहुंचे गुजरात के वाडगम से विधायक जिग्नेश मेवाणी के साथ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

गिरफ्तारी के बारे में  मेवाणी के ट्वीटर हैंडर से ट्वीट कर कहा गया है कि वह अहमदाबाद के सहारानपुर में अंबेडकर की प्रतिमा के सामने शांतिपूर्वक प्रदर्शन करने जा रहे थे, तभी गुजरात पुलिस ने रास्ते में ही उनकी गाड़ी को रोककर अपमानजनक तरीके से खींच कर बाहर निकाला। जोकि किसी भी दृष्टिकोण से सही तरीका नहीं है। उन्होंने आगे लिखा कि इस खींचतान में कार की चाभी भी टूट गई। इस प्रदर्शन का आयोजन भानु वानकर के परिवार ने अपनी मांगों को पूरा कराने के लिए किया था।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

जिग्नेश मेवाणी ने आगे लिखा कि भानु भाई मामले में जो भी अहमदाबाद और पूरे गुजरात में शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहा हैं, उन्हें गुजरात पुलिस पकड़ रही है।

ध्यान रहे 61 वर्षीय भानु  वानकर ने दलितों को भूमि आवंटन में सरकार द्वारा कथित विलंब के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए गुरुवार की दोपहर कलेक्टर ऑफिस के सामने आत्मदाह कर लिया था. इलाज के लिए उन्हें अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां शुक्रवार को रात 10 बजे करीब वानकर की मौत हो गई. वानकर भूमिहीन दलित खेतिहर मजदूर हेमाबेन के लिए लड़ रहा था. हेमाबेन ने आरोप लगाया था कि अधिकारियों ने साल 2013 में उससे 22,236 रुपये तो लिए लेकिन उसे भूखंड नहीं दिया.

Loading...