patrika

मध्य प्रदेश के आगार जिले के सालरिया गांव स्थित गोअभयारण्य में सड़ा चारा खाने के चलते बीते 15 दिनों में करीब 300 गायों की मौत हो चुकी है.

देश का पहले इस गोअभयारण्य को गायों के चारे के लिए केंद्र की और से 35 लाख रुपये अनुदान में मिल चुके है. इसके अलावा 50 लाख रुपये और आने है.

पत्रिका की रिपोर्ट के अनुसार, स्थानीय मजदूरों ने बताया कि सड़ा चारा खाने के चलते रोजाना 10 से 20 गाय मर जाती हैं और 15 दिनों के भीतर 300 गाय सड़ा चारा खाने के चलते मर चुकी हैं.

मजदूरों ने बताया मरी हुई गायों को गोअभयारण्य के पीछे गड्ढे में दफनाया जा रहा है. मजदूरों का कहना है कि  गाय को खिलाने के लिए बस सूखा सोयाबीन है, जो सड़ा हुआ है.

इस सबंध में सुसनेर गोअभयारण्य के सहायक संचालक डॉ वीएस कोसरवाल ने बताया कि सड़ा हुआ चारा हटाने के लिए तत्काल प्रभाव से आदेश दे दिए गए हैं. ठेकेदार को कह दिया गया है कि सड़ा हुआ चारा हटा लिया जाए.

वहीँ जिला कलेक्टर अजय गुप्ता ने कहा कि उन्होंने मामले की जानकारी मिलते ही सभी सड़े सोयाबीन को हटाकर गेहूं का चारा उपलब्ध करवा दिया है. साथ ही वे मामले की जांच भी कर रहे हैं.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें