Monday, November 29, 2021

पंचायत ने लगाई 3 बच्चियों की कीमत 30 हजार रुपये, फिर की पूरे गांव ने मटन पार्टी

- Advertisement -

देश मे बलात्कारियों के खिलाफ बड़ा गुस्सा उफन रहा है। तो दूसरी और पंचायतों के इंसाफ बलात्कारियों के हौसले बुलंद कर रहे है।

दरअसल छत्तीसगढ़ के जनजातीय बहुल जशपुर जिले में पंचायत द्वारा रेप की कीमत लगाने का शर्मनाक मामला सामने आया है। मनोरा विकासखंड के एक गांव में तीन बच्चियों से रेप के बाद गांव में पंचायत ने आरोपियों पर 10-10 हजार का जुर्माना लगाया और बाद में इन्ही पैसों से पूरे गांव ने मटन पार्टी भी की। इतना ही नहीं बचे पैसों को आपस में बांट लिया।

जशपुर की अडिशनल सुपरिंटेंडेंट ऑफ पुलिस (एएसपी) उनेजा खातून अंसारी का कहना है कि किसी ने भी इस बारे में शिकायत नहीं दर्ज कराई है और उन्हें पत्रकारों के जरिए इस घटना के बारे में पता चला है। एक पुलिस टीम को गांव में भेजा गया है, जोकि जशपुर के दूर-दराज के इलाके में स्थित है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सोंकयारी प्रांत के रेमनी गांव में 5 जुलाई की शाम तीनों लड़कियों के परिजन उनके घर आने का इंतजार कर रहे थे, लेकिन वो घर नहीं पहुंचीं। जिसके बाद उन्होंने खोजबीन शुरू की। इसी दौरान लड़कियों का जिस जगह पर रेप हो रहा था, वहां एक पीड़िता का पिता पहुंच गया और उसने आरोपियों को किसी तरह वहां से भगा दिया।

इसके बाद रेप पीड़िताओं के परिजनों ने पुलिस में जाने का फैसला किया, लेकिन उससे पहले ही उनके पास पंचायत का बुलावा आ गया। पंचायत ने तीनों आरोपियों पर 10-10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया और बाद में उसी जुर्माने की राशि से पूरे गांव में मटन पार्टी (मांस की दावत) की। दावत के बाद समझौते की बची हुई रकम को 45 लोगों के बीच बांट दिया गया।

पीड़ित के पिता ने बताया कि समझौते की राशि में से 45 लोगों को 485-485 रुपये बांटे गए और बाकी पैसे से मटन पार्टी की गई। उन्होंने कहा कि मेरी बेटी से रेप की कोई कीमत नहीं लगाई जा सकती है।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles